VT Update
संजय गांधी अस्पताल में 15 दिनों से बुखार की दवाई का स्टॉक खत्म,कारपोरेशन को आर्डर के बावजूद नहीं हो सकी सप्लाई,7 हजार टेबलेट की होती है प्रतिदिन खपत संजय गांधी अस्पताल में 15 दिनों से बुखार की दवाई का स्टॉक खत्म,कारपोरेशन को आर्डर के बावजूद नहीं हो सकी सप्लाई,7 हजार टेबलेट की होती है प्रतिदिन खपत गोटेगांव गोलीकांड में पुलिस रिमांड पर केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का बेटा,बांकी आरोपियों को भेजा गया जेल,अन्य फरार आरोपियों की पुलिस कर रही तलाश कैबिनेट बैठक में सिंधिया समर्थक मंत्रियों की मुख्यमंत्री कमलनाथ से बहस,मंत्री प्रद्दुम्न सिंह ने कहा ऐसे नही चलेगा सीएम साहब,कमलनाथ ने कहा मुझे पता है किसके इसारे पर ये सब कह रहे हो कमलनाथ कैबिनेट के बड़ा फैसला,प्रदेश में रियल एस्टेट को बढ़ावा देने कलेक्टर गाइड लाइन दर में 20प्रतिशत की होगी कमी,स्टाम्प ड्यूटी को भी किया गया कम,बैठक में लिए गए कई महत्वपूर्ण निर्णय
Tuesday 1st of May 2018 | ऐतिहासिक आन्दोलन की ओर किसान

सरकार के खिलाफ जून में बड़ा आन्दोलन


नई दिल्ली. आजाद भारत के इतिहास में पहली बार पूरे देश के किसानों ने हड़ताल पर जाने का ऐलान कर दिया है. राष्ट्रीय किसान महासंघ का दावा है कि देश भर में किसान नरेंद्र मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के विरोध में 1 जून से लेकर 10 जून तक हड़ताल पर रहेंगे. इस हड़ताल के दौरान मंडियों में अनाज, सब्जी और दूध की आपूर्ति ठप कर दी जाएगी. कहा जा रहा है कि इस महासंघ से 110 किसान संगठन जुड़े हुए है. किसान संगठनों के इतने बड़े ऐलान के बाद सरकार की मुसीबतें बढ़ सकती हैं. भाजपा के पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा समेत समूह के नेताओं ने मीडिया से कहा कि राष्ट्रव्यापी भारत बंद 01 जून से शुरू होकर 10 जून को अपराह्न दो बजे तक चलेगा. सिन्हा ने कहा,‘ किसान पूरे देश में एक जून से दस जून तक अनाजों, सब्जियों और दूध जैसे उत्पादों को गांवों से शहरों में भेजना बंद कर देंगे.

वादे के अनुसार समर्थन मूल्य की मांग-

यशवंत सिन्हा ने दावा किया कि हालांकि सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का वादा किया था जो कि उत्पादन लागत से 50 प्रतिशत अधिक था लेकिन किसानों को अभी तक उच्च कीमतें नहीं मिलीं. सिन्हा ने कहा,‘मैं यह कह सकता हूं कि मोदी सरकार ने उनके (किसानों) लिए कुछ भी नहीं किया. यहां तक कि नरेंद्र मोदी सरकार ने उन वादों को भी पूरा नहीं किया गया जो भाजपा के घोषणा पत्र में लिखे हुए थे.’

मप्र में भी अधूरी घोषणा-

मध्य प्रदेश के किसान नेता शिव कुमार कक्का ने कहा,‘हम मांग कर रहे हैं कि एमएसपी जमीन की लागत सहित उत्पादन की पूरी लागत का 1.5 गुना हो. हालांकि सरकार ने इसे अपने आखिरी बजट में घोषित कर दिया था, लेकिन इसमें कोई विशेष विवरण नहीं है और इससे हमारे किसानों को मदद नहीं मिल रही है.’

व्यापारियों से समर्थन की दरखास्त-

इस 10 दिवसीय आन्दोलन के लिए संगठन बड़े व्यापक स्तर पर व्यापारियों से समर्थन मांग रही है .पिछले महीने महाराष्ट्र में वाम दलों के नेतृत्व वाले एक लम्बे मार्च के लिए किसानों को बधाई देते हुए सिन्हा ने झूठे वादे करने के लिए सरकार की आलोचना की. किसानों ने व्यापारिक संगठनों से भी उनके 10 जून के भारत बंद का समर्थन करने का आग्रह किया.अब देखना यह है की यह आन्दोलन कितना सफल होता है क्युकी कहीं न कहीं ऐसे ऐलान के बाद सरकार भी चिंतित होगी .चुनावी साल में ऐसे आन्दोलन सरकार के लिए मुश्किल खाड़ी कर सकते हैं.


1 जून से लगातार हो रही है पेट्रोल और डीज़ल के दामों में गिरावट, अंतर्राष्ट्रीय

मौसम विभाग ने MP में जारी किया रेड अलर्ट, 2 दिन तक नहीं मिलेगी गर्मी और तपन से रा


 VT PADTAL


 Rewa

छात्र संघ अध्यक्ष ने गृह मंत्री बाला बच्चन को सौंपा ज्ञापन, कॉलेज में सुरक्षा बल व पुलिस चौकी की मांग
Thursday 20th of June 2019
आज रीवा आयेंगे मध्य प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन, विभागीय अधिकारीयों से करेंगे मीटिंग
Thursday 20th of June 2019
रीवा पुलिस द्वारा किया गया रामसुमिरन हत्या केस का खुलासा, हत्या की वजह मृतक की पत्नी के अवैध संबंध
Thursday 20th of June 2019
जमीन पर बैठ कर की टीएल बैठकर, जिले के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी रहे मौजूद  
Wednesday 19th of June 2019
नाबालिक लड़की के अपहरण को लेकर परिजनों द्वारा आरोपी पर की गयी कार्यवाही की मांग
Wednesday 19th of June 2019
रीवा कलेक्टर के निर्देश पर ओवरलोड ट्रकों पर की गयी कार्यवाही, अमले से भिड़े ट्रक मालिक
Wednesday 19th of June 2019