VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
केंद्रीय मंत्री ने दलितों के साथ समरसता भोज में नहीं किया भोजन

हम भगवान राम नहीं की दलितों के साथ भोजन करेगें तो वो पवित्र होगें- उमा भारती


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा दलितों के घर जाकर भोजन करने के कार्यक्रमों के बीच केंद्रीय मंत्री उमा भारती के एक बयान ने चौंका दिया है उमा भारती ने दलितों के साथ सामाजिक समरसता भोज में भोजन करने से इनकार कर दिया छतरपुर के नौगांव के ददरी गांव में पहुंची उमा भारती ने मंच से घोषणा करते हुए कहा कि वह इस समरसता भोज में भोजन नहीं करेगी वह दलित के घर खाना खाने की जगह अपने घर पर दलितों को भोजन कराएंगी और परिवार के लोगों के झूठे बर्तन उठाएंगी.

उमा भारती ने कहा, "हम भगवान राम नहीं हैं कि दलितों के साथ भोजन करेंगे तो वो पवित्र हो जाएंगे बल्कि जब दलित हमारे घर आकर साथ बैठकर भोजन करेंगे तब हम पवित्र हो पाएंगे दलित को जब मैं अपने घर में अपने हाथों से खाना परोसूंगी तब मेरा घर धन्य होगा".

दरअसल उमा भारती यहां संत रविदास के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंची थीं, जहां धार्मिक आयोजन के साथ सामाजिक समरसता भोज का आयोजन भी किया गया था आयोजनकर्ता अब उमा भारती के भोजन नहीं करने पर कुछ भी बोलने से बचते रहे.

उमा भारती ने संत रविदास की प्रतिमा का अनावरण किया और सीधे मंच पर पहुंची उन्होंने रामायण के सुंदरकांड के प्रसंग सुनाए इसके बाद जब उनके भाषण का समापन हो रहा था तो आयोजकों ने उनसे समरसता भोज में शामिल होने का आग्रह किया इस पर उन्होंने माइक से ही कहा कि मैं दलितों के साथ भोजन नहीं करती हूं बल्कि दलितों को अपने घर बुलाकर भोजन कराती हूं.


इंदौर से चुनावी आगाज करेगी आप, केजरीवाल करेंगे सभा को संबोधित !

राहुल गाँधी से ज्यादा शिवराज सिंह से जुड़े थे फर्जी फालोवर्स    


 VT PADTAL