VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Saturday 5th of May 2018 | बारात निकालने से पहले पुलिस से अनुमति ले दलित :SDM

SDM का फरमान: दलित परिवार 3 दिन पहले पुलिस से विवाह कार्यक्रम की लें मंजूरी  


उज्जैन. उज्जैन जिले के महिदपुर एसडीएम ने दलितों को लेकर अजीबो गरीब फरमान जारी कर दिया है. दरअसल महिदपुर तहसील के SDM ने सभी पंचायतों के सरपंच सचिव को आदेश दिया है कि गांव में यदि किसी भी दलित परिवार में शादी हो या दलित बारात निकाले तो 3 दिन पहले थाने में उसकी जानकारी दें और पुलिस हेड कांस्टेबल से उसकी लिखित स्वीकृति लें.

आपको बता दें कि 30 अप्रैल को राजस्‍थान के भीलवाड़ा जिले में गोवर्द्धनपुरा गांव में एक दलित व्यक्ति को अपनी बारात लगने के दौरान घोड़े पर सवारी करने की वजह से पीटा गया और उसी गांव के कुछ अन्य लोगों ने उसे घोड़े से उतरने के लिए मजबूर कर दिया. पुलिस ने इस सिलसिले में अनुसूचित जाति / जनजाति एक्ट के तहत केस दर्ज कर सात लोगों को गिरफ्तार किया.

मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के महिदपुर एसडीएम ने दलितों को लेकर एक तुगलकी फरमान जारी किया है
हलाकि एसडीएम के इस आदेश के बाद दलित संगठनों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है और एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. वहीं उज्जैन कलेक्टर ने इस आदेश को बदलने का कहा है

 


एट्रोसिटी एक्ट पर शिवराज के बयान पर कपिल सिब्बल ने किया पलटवार

बहुजन समाज पार्टी ने जारी किये 22 प्रत्याशियों के नाम


 VT PADTAL