VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
अध्यापक अब नहीं होगें 'शिक्षक'

अध्यापक अब नहीं होगें 'शिक्षक'


मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस में बुलाई पंचायत में ऐलान तो कर दिया था कि 'आज से कोई अध्यापक नहीं होगा, सब शिक्षक होंगे' परंतु उनकी यह घोषणा अब पूरी नहीं होने वाली, क्योंकि सरकार ने अध्यापकों के संविलियन प्रक्रिया में मिलावट कर दी है.

दरअसल अब अध्यापकों के लिए नया कैडर बनाया जा रहा है जिसमें पदनाम होंगे, प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षक. यह ठीक वैसा ही है जैसे शिक्षाकर्मी से अध्यापक किया गया था वरिष्ठता को लेकर शिक्षक और अध्यापकों के आमने-सामने आने पर सरकार अध्यापकों को मनाने में जुटी है चार अध्यापक संगठनों के पदाधिकारियों की दो दौर की बैठक हो चुकी है, लेकिन मामला नहीं सुलझा इसलिए अब तीसरी बैठक बुलाई जा रही है सूत्र बताते हैं कि इस बीच विभाग नए कैडर पर काम पूरा करेगा इसे मुख्यमंत्री के सामने रखा जाएगा और यदि उन्हें पसंद आया तो लागू होगा.

इस विवाद को लेकर अध्यापकों का अपना तर्क है वे कहते हैं कि शिक्षक संवर्ग में शामिल होने के बाद वरिष्ठता की दिक्कत होगी, तो वेतनमान के हिसाब से वरिष्ठता तय कर लें जिसका ज्यादा वेतन वह वरिष्ठ, लेकिन शिक्षक इस पर तैयार नहीं हैं अब सरकार को मुख्यमंत्री की घोषणा पूरी करने के लिए दोनों के बीच समन्वय बनाने में दिक्कत आ रही है हालांकि विभाग के अधिकारी इस संबंध में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL