शहडोल: गांव के लोगों के लिए सड़क बनी मुसीबत

शहडोल: गांव के लोगों के लिए सड़क बनी मुसीबत

म.प्र. की सडको को अमेरिका की सडको का हवाला देते नजर आ रहे है़ और विकास के नाम पर पंचायतों को लाखो करोडो रुपए की राशि दी जा रही है़ पर सच्चाई कुछ और है़ मामला शहडोल जिले के ग्राम बलबहरा का है़. जहाँ म.प्र.शासन ग्रामीण अंचलों के लिए करोडो रुपए विकास के नाम पर पंचायतों को दी जा रही है़ पर सच्चाई ग्रामीण बताते दिख रहे है़ पर इनकी कोई सुनने वाला नही .मामला शहडोल जिले के जनपद बुढार के ग्राम पंचायत बलबहरा का है़ जहॉ कुछ दिन पूर्व ही पंचायत के द्वारा ग्रेबल रोड बनवाई गई पर यह ग्रेबल रोड आज आम नागरिको बा गांव के लोगो के लिए मुसीबत बन गई जहॉ रोज ग्रामीणो को कोई ना कोई समस्याएं होती है़ पर इस रोड पर ग्रामीण चलने को मजबूर है़  जिले और जनपद मे बैठे जिम्मेदार अधिकारी गांव मे विकास के नाम पर तालियां बजाते दिख रहे है़ .मीडिया के द्वारा कई पंचायतों के भ्रष्टाचार को कई बार अपने समाचार पत्रो बा चैनलो मे प्रकाशित किया .और इसकी जानकारी जनपद बुढार मे बैठे जिम्मेदार अधिकारी बा नवागत जनपद सी.ई.ओ.तक पहुची पर शायद कार्यवाही के नाम पर और भ्रष्टाचार जनपद बुढार बा पंचायतों मे तेजी से फैलता दिख रहा है़ कुछ दिन पूर्व ही मीडिया ने ग्राम पंचायत मझौली के भ्रष्टाचार को उजागर किया .जिसकी शिकायत जनपद बुढार से लेकर जिले तक की गई .पर जिम्मेदार अपनी चुप्पी साधे हुए है़ मीडिया अगर कभी जनपद बुढार सी.ई.ओ.को फोन पर जानकारी देनी चाही पर आज तक नगावत सी.ई.ओ.कभी फोन उठाना नही चाहा. जाने कब जिला सी.ओ.इन भ्रष्टाचारियों पर कब कार्यवाही करेगे.