जानवरों की कोख से जन्म लेंगे इंसानी बच्चे,वैज्ञानिको का अनोखा प्रयोग |

जानवर के गर्भ में इंसानी भ्रूण को किया जाएगा विकसित |

जानवरों की कोख से जन्म लेंगे इंसानी बच्चे,वैज्ञानिको का अनोखा प्रयोग |

पश्चिम देशों से शुरू हुआ किराए की कोख यानी सरोगेसी का चलन अब पूरी दुनिया में है। लेकिन अगर इंसान के बच्चे किसी जानवर की कोख से जन्म लें, ऐसा कभी आपने सपने में भी नहीं सोचा होगा। मगर आम आदमी की सोच के उलट अब वो दिन दूर नहीं इंसानी बच्चे किसी जानवर की कोख से पैदा होंगे। जापान के वैज्ञानिक अब इस कल्पना को सच बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। दरअसल, जापान की सरकार ने वहां के एक स्टेम-सेल वैज्ञानिक को एक खास शोध के लिए सरकारी सहायता मुहैया कराने की शुरुआत की है। यह वैज्ञानिक उस फॉर्मूले पर काम कर रहा है, जिससे पशुओं के गर्भ में मानव-कोशिकाओं को विकसित किया जा सकेगा। इसका मतलब यह हुआ कि जानवर या पशु एक तरह से सरोगेट मदर की भूमिका निभाएंगे। आपको बता दें कि विज्ञान लगातार तरक्की कर रहा है। वैज्ञानिक हर रोज नए-नए और चमत्कारिक प्रयोग करने में जुटे हैं। मेडिकल साइंस ने कृत्रिम अंग प्रत्यारोपण जैसी असंभव प्रक्रिया को संभव कर दिखाया है। इस क्रम में वैज्ञानिकों ने चार कदम आगे जाते हुए जानवरों की कोख में मानव शरीर को विकसित करने की परिकल्पना की है। योजना के अनुसार शुरुआती दौर में चूहे के गर्भाशय से मानव कोशिकाएं विकसित की जाएंगी। जिसके बाद उसको किसी सेरोगेट जानवर में ट्रांसप्लांट कर दिया जाएगा।