मंत्रिमंडल विस्तार के पहले वरिष्ठ विधायक गोपाल भार्गव का बड़ा बयान, कांग्रेस जैसी गलती कर रही भाजपा

मंत्रिमंडल विस्तार के पहले वरिष्ठ विधायक गोपाल भार्गव का बड़ा बयान, कांग्रेस जैसी गलती कर रही भाजपा
GOPAL BHARGAV

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के लिए कैबिनेट विस्तार गले की फांस बनता जा रहा है.पिछले 1 हफ्ते से लगातार बैठकों और मंत्रणा का दौर चलता रहा लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि निष्कर्ष निकलने में काफी अड़चन है. रविवार को नामों की लिस्ट लेकर हाईकमान से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज वापस भोपाल लौट आए हैं. संभावना है कि कल यानी 1 जुलाई को मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा लेकिन इसके पहले ही पिछली सरकार में मंत्री रहे और वरिष्ठ बीजेपी विधायक गोपाल भार्गव का बड़ा बयान है. गोपाल भार्गव ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि  कि भाजपा वही गलती कर रही है जो कांग्रेस ने की थी. गोपाल भार्गव ने कहा की पार्टी को वरिष्ठ नेताओं का सहयोग लेना चाहिए केंद्र के फार्मूले को प्रदेश में लागू नहीं करना चाहिए इसे कहीं ना कहीं गोपाल भार्गव के अंदर का दर्द माना जा रहा है वही पार्टी द्वारा गोपाल भार्गव की नाराजगी को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष बनाए जाने की भी चर्चा है हालांकि अंतिम फैसला हाईकमान को लेना है.

 सूत्रों की मानें तो  दिल्ली में हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है कि  पिछले तीन कार्यकाल में मंत्री रहे वरिष्ठ विधायकों की जगह युवा विधायकों को कैबिनेट में जगह दी जाएगी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपने चहेतों को मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहते हैं लेकिन हाईकमान युवाओं को मौका देने के फेवर में है वही सिंधिया समर्थकों के साथ कोई समझौता ना करने के मूड में.

 शिवराज सिंह के दिल्ली से भोपाल लौटने के बाद एक बात साफ हो गई कि अभी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है अब देखना होगा कि किस फार्मूले के तहत मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार होता है वहीं कांग्रेस पूरे घटनाक्रम पर लगातार नजर बनाए हुए है.