अप्रैल में भारत आएंगे बोरिस जॉनसन, जनवरी में कोरोना के कारण रद्द हुआ था दौरा |

अप्रैल में भारत आएंगे बोरिस जॉनसन, जनवरी में कोरोना के कारण रद्द हुआ था दौरा |

बोरिस जॉनसन के भारत दौरे का मकसद यूके के लिए और अधिक अवसरों को तलाशना होगा। ब्रिटेन द्वारा यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के बाद बोरिस की पहली प्रमुख अंतरराष्ट्रीय यात्रा होगी।

 बोरिस जॉनसन अगले महीने के आखिर में भारत आएंगे। यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर निकलने के बाद बोरिस जॉनसन की यह पहली बड़ी अंतर्राष्ट्रीय यात्रा होगी। इसक बात की जानकारी उनके कार्यालय ने दी है। जॉनसन ने दोनों देशों के बीच व्यापार वार्ता को गति देने के प्रयासों के तहत जनवरी में भारतीय यात्रा की योजना बनाई थी, लेकिन ब्रिटेन में कोरोना वायरस के मामले में आई उछाल की वजह से उस दौरे को रद्द करना पड़ा था। गणतंत्र दिवस पर भारत को शुभकामनाएं देते हुए जॉनसन ने कहा था कि मैं इस साल भारत आने के लिए उत्सुक हूं, ताकि हमारी दोस्ती को मजबूत कर सकें, रिश्तों को आगे बढ़ा सकें, जिसका संकल्प प्रधानमंत्री मोदी और मैंने किया है।

प्रधानमंत्री मोदी जून में ब्रिटेन जाएंगे। यहां वे G7 समिट में हिस्सा लेंगे। कॉर्नवाल में होने वाली समिट के लिए मोदी को ब्रिटेन ने न्यौता भेजा था।