प्रदेश में फिर बढ़ी कोरोना संक्रमण की रफ़्तार, दो बड़े शहर जा सकते है डेंजर जोन में

प्रदेश में फिर बढ़ी कोरोना संक्रमण की रफ़्तार, दो बड़े शहर जा सकते है डेंजर जोन में

मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण खत्म होने की स्थिति में था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से यह धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। मध्यप्रदेश के दो बड़े शहर डेंजर जोन बनते जा रहे हैं। पिछले 10 दिनों की बात करें तो दोनों जिलों में नए संक्रमितों की संख्या दोगुनी से अधिक हो गई है। यदि दोबारा से संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली तो मध्यप्रदेश में दोबारा लॉकडाउन की स्थिति देखने को मिल सकती है। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें। मध्यप्रदेश की स्थिति पर नजर डालें तो कुल 2,58,333 संक्रमित थे जिनमे स्वस्थ हुए  2,52,628 एक्टिव केस 1,863.

वहीं महाराष्ट्र में भी संक्रमण की रफ्तार बढ़ने के बाद दोबारा लॉकडाउन की बातें होने लगी है। इधर, मध्यप्रदेश में भी संक्रमण की रप्तार बढ़ने लगी है। 10 फरवरी को नए संक्रमित मिल रहे थे, उनकी संख्या 150 से कम थी। इसके बाद रफ्तार बढ़ने लगी और यह संख्या 250 के पार पहंच गई है। हर दिन करीब 10 से 12 संक्रमित बढ़ते जा रहे हैं।

 इस दौरान सबसे ज्यादा नए संक्रमित इंदौर शहर में बढ़े हैं, यहां 10 फरवरी को नए संक्रमित हर दिन करीब 40 से नीचे मिलने लगे थे, लेकिन अचानक 90 के आसपास संख्या पहुंच गई। इसके अलावा भोपाल में भी संक्रमितों की संख्या हर दिन 20 से 40 के बीच आ रही थी, लेकिन अब इसने रफ्तार पकड़ी और संख्या 70 के आसपास पहुंच गई है। जो चिंता का विषय है। यदि कोरोना संक्रमण ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली तो मध्यप्रदेश में फिर मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ सकता है।

वहीं पिछले 24 घंटों की बात करें तो प्रदेश में कुल 241 नए संक्रमित मिले हैं, जो बुधवार की तुलना में 10 मरीज कम है। बुधवार को 251 संक्रमित मिले थे। गुरुवार को दो लोगों की मौत हो गई थी। जबकि पाजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत भी बुधवार के बराबर ही रहा है। 193 संक्रमित स्वस्थ भी हुए हैं।

 प्रदेश में गुरुवार को 14103 फ्रंट लाइन वर्करों को टीके लगाए गए हैं। 54 हजार 701 को टीके लगवाने के लिए एसएमएस किए गए थे। अब तक प्रदेश में 6 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। अशोकनगर में सबसे ज्यादा 58 फीसदी लोगों ने वैक्सीन