104 की साल महिला ने नौ महीने में कोरोना को दूसरी बार हराया, हॉस्पिटल स्टाफ ने सम्मान बजायी तालियां

104 की साल महिला ने नौ महीने में कोरोना को दूसरी बार हराया, हॉस्पिटल स्टाफ ने सम्मान बजायी तालियां

मात्र एक साल में दूसरी बार कोरोना संक्रमण को मात देने के बाद अस्पताल के कर्मियों ने 104 वर्षीय महिला का जबरदस्त स्वागत किया. कोलंबिया के एक अस्पताल में उसे डिस्चार्ज किए जाने से पहले डॉक्टर और नर्स कर्मन हरनानडेज का तालियों से उत्साह बढ़ाने के लिए कॉरीडोर में खड़े हो गए.

महिला पहली बार कोरोना वायरस से संक्रमित पिछले साल जून में हुई थी और इलाज के लिए 25 दिन अस्पताल में रहना पड़ा था. लेकिन टीकाकरण के बाद एक बार फिर 8 मार्च को बुजुर्ग महिला कोरोना वायरस की चपेट में आ गई. इस बार संक्रमण का इलाज कराने के लिए भर्ती होने के बाद उसने अस्पताल के आईसीयू में 21 दिन बिताए.

सोमवार को ट्रॉली बेड पर हवादार प्लास्टिक में ढंकी महिला को अस्पताल से एंबुलेंस में होम केयर ले जाया गया. इस दौरान पीपीई किट पहने करीब एक दर्जन स्टाफ ने उसे विदाई दी.

होम केयर की एक हेल्थ केयर वर्कर गिना गोमेज ने कहा, "महिला पहले ही उत्कृष्ट शारीरिक क्षमता के साथ एक बुजुर्ग मरीज है क्योंकि उसने दोबारा वायरस से संघर्ष किया है." अस्पताल के डायरेक्टर का कहना था कि मुख्य रूप उसकी काफी आयु के कारण बुजुर्ग मरीज उनके लिए एक उम्मीद है. बताया जाता है कि महिला की बेटी की 70 साल है और उसने पहले स्किन कैंसर का सफतलापूर्वक मुकाबला किया था.