ग्वालियर में लगा कोरोना कर्फ्यू , मरीजाें की संख्या अधिक मिलने के बाद लिया गया फैसला

ग्वालियर में लगा कोरोना कर्फ्यू , मरीजाें की संख्या अधिक मिलने के बाद लिया गया फैसला

राजधानी भोपाल में एक बार कोरोना corona curfew gwalior 15 se 21 april का विस्फोट हुआ है। यहां पर 1456 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है ।बताया जा रहा है कि 5200 सैंपल की जांच में मिले 1456 संक्रमित मिले। वहीं भोपाल में कोरोना संक्रमित 5 लोगों की मौत हुई है। इंदौर में 923 नए संक्रमित मरीज मिले है जबकि यहां 6 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। इंदौर में एक्टिव मरीज 7 हजार 917 है और अब तक अब तक 1005 लोगों की कोरोना से जान गई है

भोपाल इंदौर समेत कई शहरों में कोरोना कर्फ्यू लगने के बाद प्रदेश के ग्वालियर में भी 15 से 21 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है। काेराेना मरीजाें की बढ़ती संख्या काे देखते हुए यहां कोरोना कर्फ्यू की घाेषणा की गई है। प्रशासन ने कोरोना कर्फ्यू को कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए गए हैं। इंदाैर, भाेपाल के साथ ही अब ग्वालियर में भी मरीजाें की संख्या अधिक हाे गई है। जिस कारण कोरोना कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि ग्वालियर के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में आज बड़ा फैसला लिया गया है। ग्वालियर में 15 अप्रैल सुबह 6 बजे से कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है।  इस दाैरान आवश्यक सेवाएं बहाल रहेंगी।जनप्रतिनिधियाें के समक्ष काेराेना कर्फ्यू का प्रस्ताव रखा|

ग्वालियर में बीते तीन दिनाें से राेजाना सैकड़ों मरीज मिल रहे हैं। वहीं बीते 48 घंटे में 21 माैतें हाेने से प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। मरीजाें का दबाव बढ़ने के साथ ही अस्पतालाें में भी व्यवस्था चरमराने लगी है। शनिवार-रविवार के लॉकडाउन के बाद बाजार में उमड़ी भीड़ काेराेना बढ़ने का बड़ा कारण बन रही है।