सरकार के भरोसे न बैठें, निजी अस्पताल खुद लगाएं ऑक्सीजन प्लांट, जानिए मंत्री का क्या है एक्शन प्लान

सरकार के भरोसे न बैठें, निजी अस्पताल खुद लगाएं ऑक्सीजन प्लांट, जानिए मंत्री का क्या है एक्शन प्लान

इंदौर में कोरोना मरीजों के लिए हो रही ऑक्सीजन की कमी के बीच शहर के कोविड प्रभारी मंत्री ने निजी अस्पतालों के संचालकों के साथ बैठक की. मंत्री तुलसीराम सिलावट ने अस्पतालों से कहा कि ऑक्सीजन की किल्लत है. इसके लिए सरकार के भरोसे बैठे रहना उचित नहीं. अस्पतालों में ही प्लांट लगाएं, सरकार मदद करेगी. ऑक्सीजन के मामले में अस्पताल आत्मनिर्भर बनें.

इंदौर के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट की ये बैठक रेसीडेंसी कोठी में हुई. बैठक में 28 निजी अस्पतालों के संचालकों ने अस्पताल में ही ऑक्सीजन प्लांट लगाने पर सहमति दे दी. इस बीच दो अस्पतालों ने जानकारी दी कि उन्होंने इस पर काम भी शुरू कर दिया है. कुछ ही समय में उनके अस्पताल में यह सुविधा मिलने लगेगी.

मंत्री सिलावट ने अस्पताल संचालकों को जानकारी दी कि जो अस्पताल अपने परिसर में ऑक्सीजन प्लांट लगाएंगे, उन्हें जीएसटी अथवा अन्य करों में छूट मिले, इसे लेकर प्रयास किए जाएंगे. इस संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा की गई है. बैठक में मौजूद अधिकांश निजी अस्पताल संचालकों ने ऑक्सीजन प्लांट लगाने की आवश्यकता पर सहमति जताई. उन्होंने कहा कि वे इस संबंध में जल्द ही काम शुरू कर देंगे.

कोरोना संक्रमण (Corona virus) को लेकर मध्यप्रदेश में राहत भरी खबर सामने आई है. कोरोना संक्रमण के मामले में प्रदेश 13वें से 14वें स्थान पर खिसक गया है. प्रदेश में कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या घटकर 90796 हो गई है. नए प्रकरणों की तुलना में रिकवरी बढ़ी है. बीते 24 घंटे में कोरोना के 12400 नए मरीज आए हैं जबकि 13 हजार 584  मरीज स्वस्थ हुए.

वहीं प्रदेश की रिकवरी रेट 83 प्रतिशत हो गयी है. प्रदेश में कोरोना की पॉजिटिविटी रेट में भी गिरावट दर्ज की जा रही है. प्रदेश की औसत पॉजिटिविटी रेट 21.1% हो गई है. 7 दिन का औसत पॉजिटिविटी रेट 22.4% है. देश का सात दिन का औसत पॉजिटिविटी रेट 21% है