सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन का दायरा बढाया |

सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन का दायरा बढाया |

कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे फेज में सरकार ने सभी प्राइवेट अस्पतालों को शामिल कर लिया है। सोमवार से शुरू हुए इस फेज में पहले सरकारी योजनाओं से जुड़े 10,000 प्राइवेट अस्पताल ही शामिल किए गए थे। वैक्सीनेशन शुरू होने के एक दिन बाद ही यानी मंगलवार को सरकार ने इसका दायरा बढ़ा दिया |

आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY), सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (CGHS) और स्टेट हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम में शामिल हैं|

जो प्राइवेट अस्पताल इन तीन योजनाओं में शामिल नहीं हैं, उन्हें भी वैक्सीनेशन सेंटर शुरू करने की इजाजत होगी बशर्ते उनके पास कोरोना के टीकाकरण से जुड़ी सभी सुविधाएं हों।

ये सुविधाएं होनी चाहिए :

  • कोल्ड चेन के इंतजाम और टीका लगाने वाला पर्याप्त स्टाफ
  • वैक्सीन लगवाने वालों के ऑब्जर्वेशन के लिए जगह
  • वैक्सीनेशन के बाद मैनेजमेंट ऑफ एडवर्स इवेंट्स (AEFI) की व्यवस्था
  • भीड़ को संभालने और लोगों को बैठाने की व्यवस्था
  • पानी और संकेतकों (साइनेज) के इंतजाम |