जान से मारे जाने के डर से नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने नहीं कराई रीकाउंटिंग, राज्यपाल दे चुके थे जीत की बधाई

जान से मारे जाने के डर से नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने नहीं कराई रीकाउंटिंग, राज्यपाल दे चुके थे जीत की बधाई

बंगाल में जीत का परचम लहराने वालीं ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में हुई काउंटिंग पर सवाल उठाए हैं। तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख ने सोमवार को भाजपा पर बड़े आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि उनकी हार के पीछे कई राज छिपे हुए हैं। उन्हें हराने के लिए बड़े लेवल पर फर्जीवाड़ा किया गया है।

ममता ने कहा कि मुझे किसी ने मैसेज भेजा। मैसेज भेजने वाले को बताया गया है कि नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर काउंटिंग के समय डरे हुए थे। अफसरों ने कहा है कि अगर हम फिर से काउंटिंग करवाते तो हमें जान का खतरा हो सकता है। ममता ने नंदीग्राम में हुई मतगणना पर शक जाहिर करते हुए कहा कि वहां 4 घंटे तक सर्वर डाउन रहा। इसी बीच राज्यपाल भी हमें जीत की बधाई दे चुके थे, लेकिन अचानक सब कुछ बदल दिया गया।

बंगाल की 292 सीटों पर चुनाव हुए थे। 2 सीटों पर चुनाव प्रत्याशियों के निधन के बाद रद्द हो गए थे। TMC ने इनमें से 214 सीटें जीती हैं। हालांकि, खुद ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से चुनाव हार चुकी हैं। बहुमत होने के कारण TMC सरकार बनाएगी। 5 मई को ममता तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी। 66 साल की ममता बनर्जी को फिर किसी सीट से चुनाव लड़ना पड़ सकता है। इससे पहले ममता ने 20 मई 2011 को पहली और 27 मई 2016 को दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।