MP BOARD EXAM: छात्र जिस जिले में हैं वहीं से दे सकते हैं 12वी की परीक्षा

MP BOARD EXAM:  छात्र जिस जिले में हैं वहीं से दे सकते हैं 12वी की परीक्षा

देश मे लॉक डाउन होने की वजह बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी लेकिन प्रदेश में एक बार फिर परीक्षार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए 12वीं की परीक्षा आयोजित की जा रही है। तो वहीं शिवराज सरकार ने दसवीं के परीक्षार्थियों को जनरल प्रमोशन के आधार पर रिजल्ट तैयार करने की बात कही है। लॉकडाउन और कोरोना वायरस के चलते ऐसे विद्यार्थी भी हैं जो दूसरे जिलों में एवं प्रदेश में पलायन कर चुके है। लॉक डाउन के दौरान माध्यमिक शिक्षा मंडल को अलग-अलग परीक्षा केंद्र बनाकर परीक्षा कराना भी अपनी एक अलग चुनौती है। इसके साथ ही बाहर रहने वाले विद्यार्थियों की भी परीक्षा कराई जानी है जिसके लिए सरकार ने गाइडलाइन जारी की है माध्यमिक शिक्षा मंडल की 12वीं के बचे हुए  प्रश्न पत्र की परीक्षा 9 जून से होगी लेकिन लॉकडाउन होने के कारण  कई विद्यार्थी अपने निवास के बजाय प्रदेश के अन्य जिलों में फंसे होने के कारण उसी जिले में परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने की तैयारी सरकार के द्वारा की जा रही हैं। ऐसे विद्यार्थी जो 12वीं के बचे हुए प्रश्न पत्र की परीक्षा किसी अन्य जिले से देना चाहते हैं तो  25 मई शाम 4 से 28 मई तक एमपी ऑनलाइन कियोस्क व पोर्टल में एवं माध्यमिक शिक्षा मंडल के मोबाइल ऐप के माध्यम से आवेदन पेश कर सकते हैं| विद्यार्थी जिले के जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय समन्वयक संस्था मंडल के संभागीय कार्यालयों के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं। जिला बदलने की स्थिति में विद्यार्थियों को जिले के मुख्यालय पर ही जाकर परीक्षा देनी होगी यदि कोई छात्र जिले के अन्य तहसील में रह रहा है तो उसे परीक्षा केंद्र बदलने की सुविधा नहीं मिलेगी| माध्यमिक शिक्षा मंडल ने पहले ही 12वीं के बच्चों के प्रश्नपत्रों के लिए छात्रों को जिले के परीक्षा केंद्र बदलने की सुविधा दी थी लेकिन जो छात्र मध्य प्रदेश उत्तर प्रदेश राजस्थान अन्य राज्यों में पलायन कर चुके हैं उनके लिए कोई विकल्प नहीं दिया गया क्या ऐसे में इन छात्रों के लिए प्रदेश में आकर परीक्षा देना संभव होगा लेकिन फिर भी प्रदेश के विद्यार्थी अपनी पूरी तैयारी के साथ 12वीं की परीक्षा दे सकते हैं|