GDP मैं हो रही ग्रोथ, GST कलेक्शन ने बनाया रिकॉर्ड |

GDP मैं हो रही ग्रोथ, GST कलेक्शन ने बनाया रिकॉर्ड |

अनलॉक के बाद आर्थिक गतिविधियों में लगातार सुधार हो रहा है। इसका संकेत हाल में आए विभिन्न सेक्टर्स के पॉजिटिव नतीजों से मिला है। इन संकेतों से स्पष्ट हो गया है कि इकोनॉमी प्री-कोविड स्तर की ओर तेजी से बढ़ रही है और मंदी का खतरा टल गया है।

चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में देश की GDP में 0.4% की ग्रोथ रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, इस तिमाही में देश की अनुमानित GDP 36.22 लाख करोड़ रुपए रही है।

आर्थिक गतिविधियों के साथ फरवरी में पैसेंजर कारों की बिक्री में भी 23% की ग्रोथ रही है। देश की टॉप-10 कार निर्माता कंपनियों ने फरवरी 2021 में 2,98,694 यूनिट्स की बिक्री की है।

अगले साल देश में मार्च 2022 तक तेल की खपत में 9.87% की ग्रोथ रह सकती है। यदि ऐसा होता है तो बीते 6 सालों में यह सबसे ज्यादा ग्रोथ रहेगी।

प्रख्यात अर्थशास्त्री ने अगले वित्त वर्ष में दो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के सरकार के फैसले को 50 साल पहले किए गए एक गलत को सही करने के लिए एक अभूतपूर्व प्रयास बताया।