IPL 2020: एमएस धोनी ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लेने पहुंचे चेन्नई

IPL 2020: एमएस धोनी ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लेने पहुंचे चेन्नई

चेन्नै सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी चेन्नै पहुंच चके हैं. उनके अलावा टीम के कई खिलाड़ी शुक्रवार का ट्रेनिंग कैंप के लिए यहां पहुंच चुके हैं. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और चेन्नै सुपर किंग्स के टीम के उनके साथी खिलाड़ी इंडियम प्रीमियर लीग के लिए यूएई रवाना होने से पहले अभ्यास शिविर में भाग लेने के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे. एमए चिदंबरम स्टेडियम में शनिवार से शुरू होने वाले एक सप्ताह के शिविर के लिए धोनी के अलावा सुरेश रैना , दीपक चाहर पीयूष चावला और केदार जाधव भी यहां पहुंचे. सीएसके ने धोनी की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा- थाला धरिसनम रीलोडेड...  सीएसके के एक अधिकारी ने कहा, ‘टीम के 16 भारतीय खिलाड़ियों में से धोनी सहित 13 या 14 खिलाड़ी शिविर को हिस्सा होंगे. ये खिलाड़ी कोविड-19 की जांच कराकर यहां पहुंच रहे है, ऐसे में उनका अगला परीक्षण 21 अगस्त को यूएई रवाना होने से 72 घंटे पहले होगा.’ आईपीएल की तीन बार की चैम्पियन टीम ने धोनी और दूसरे खिलाड़ियों के चेन्नै पहुंचने की तस्वीरों को अपने सोशल मीडिया पेज पर साझा किया है. पिछले साल जुलाई में एकदिवसीय विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से भारतीय टीम की हार के बाद से धोनी से प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है. हरफनमौला रविंद्र जडेजा को छोड़कर लगभग सभी खिलाड़ियों के शिविर में भाग लेने की उम्मीद है. सीएसके के एक अधिकारी ने कहा कि जडेजा व्यक्तिगत कारणों से अभ्यास शिविर में भाग नहीं लेंगे और टीम की रवानगी से पहले टूर्नमेंट स्थल पर उनसे जुड़ेंगे. अधिकारी ने कहा कि सभी खिलाड़ियों का यहां दो बार जांच होगा और अगर इस जांच में उनका नतीजा नेगेटिव आया तभी उन्हें दुबई जाने की अनुमति होगी. फ्रेंचाइजी ने तमिलनाडु के आठ नेट गेंदबाजों को चुना है और वे भी टीम के साथ यूएई की यात्रा करेंगे. सीएसके ने इससे पहले 29 मार्च से शुरू होने वाले आईपीएल के लिए दो मार्च से अभ्यास शिविर लगाया था लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण उसे बीच में रद्द करना पड़ा. धोनी ने हालांकि उस शिविर में अभ्यास किया था जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में दर्शक भी पहुंचे थे. कोविड-19 महामारी के कारण हालांकि इस बार स्टेडियम में दर्शकों को आने की अनुमति नहीं होगी. तमिलनाडु सरकार द्वारा एमए चिदंबरम स्टेडियम की में सुविधाओं का उपयोग करने की मंजूरी के बाद इस शिविर की योजना बनाई गई थी. राज्य में हालांकि कोविड-19 के मामले तीन लाख से अधिक हो गये है.