महू की बेटी बनी वायुसेना की फ्लाइंग ऑफिसर, बिना किसी कोचिंग के की तैयारी

देश में पांच लाख प्रतिभागियों में से चयनित 214 में ऐश्वर्या भी शामिल हैं

महू की बेटी बनी वायुसेना की फ्लाइंग ऑफिसर, बिना किसी कोचिंग के की तैयारी

इंदौर.  महू की रहने वाली ऐश्वर्या शर्मा का चयन भारतीय वायुसेना में हुआ है. दो साल की ट्रेनिंग के बाद वे वायुसेना की तकनीकी शाखा को बतौर फ्लाइंग ऑफिसर जॉइन करेंगी. देश में पांच लाख प्रतिभागियों में से चयनित 214 में ऐश्वर्या भी शामिल हैं. इंदौर के एसजीएसआईटीएस से इंजीनियरिंग करने वाली ऐश्वर्या शर्मा का चयन भारतीय वायुसेना में हुआ है.
दो साल की ट्रेनिंग के बाद वे वायुसेना की तकनीकी शाखा को बतौर फ्लाइंग ऑफिसर जॉइन करेंगी पिछले साल आयोजित वायुसेना संयुक्त प्रवेश परीक्षा एफकेट में शामिल पांच लाख प्रतिभागियों में से चयनित 214 में ऐश्वर्या शामिल हैं. वे बताती हैं 2019 में ग्रेजुएशन पूरा होने के महज चार माह बाद उनके पिता का देहांत हो गया था. उनकी बहन उस वक्त छोटी थी और मां गृहिणी. इसलिए परिवार की जिम्मेदारी उन पर आ गई. कैंपस प्लेसमेंट के जरिए इंफोसिस में नौकरी लग गई. इंदौर में कमरा किराए से लेकर जॉब के साथ पढ़ाई भी करती रहीं.

बिना किसी कोचिंग के की तैयारी
बगैर कोचिंग इंटरनेट की मदद से परीक्षा की तैयारी की और इंटरव्यू के लिए महू के रिटायर्ड सेनाधिकारी से मार्गदर्शन लिया. उनके पिता वीरेंद्र कुमार शर्मा नेवी में पेटी ऑफिसर थे. उनका सपना था कि वो भी सेना में अधिकारी की तरह नौकरी करें. पिता की इसी ख्वाहिश को पूरा करने के लिए एश्वर्या ने जी तोड़ मेहनत की और तब जाकर उनके पिता का सपना साकार हो पाया.