ममता बनर्जी की केंद्र सरकार को दो टूक, मोदी सरकार को बताया अंहकारी

ममता बनर्जी की केंद्र सरकार को दो टूक, मोदी सरकार को बताया अंहकारी

पश्चिम बंगाल  की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  ने केंद्र की मोदी सरकार पर पर अंहकारी होने का आरोप लगाया है. एक बैठक में तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ने कहा कि पंजाब में किसानों का आंदोलन चल रहा है. अगर आपको पसंद नहीं है तो क्या उन्हें आतंकी बोले देंगे? नहीं यह ठीक नहीं हैं. ममता ने कहा कि लाखों किसान दिल्ली पहुंचे लेकिन कोई हिंसा नहीं हुई लेकिन भारतीय जनता पार्टी देश को जलाती है. खुद नहीं जलते हैं. सबको जलाते हैं.

ममता ने दावा किया कि राजस्थान में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि हमारे पास 50 लाख व्हाट्सऐप ग्रुप है. हम अगर जनता को भड़काना चाहें तो हम कर सकते हैं. अगर यह कोई देश का गृह मंत्री कहे तो बात यही है , जो हम कल सुबह से देख रहे हैं. किसान ने कुछ नहीं किया लेकिन सब किसानों पर बेबुनियाद इल्जाम लगा रहे हैं. ममता यहीं नहीं रुकी उन्होंने आगे कहा की कि मैंने राजीव गांधी, मनमोहन सिंह, गुलजार साहब, देवेगौड़ा, नरसिम्हा राव की सरकारें देखीं. राजीव गांधी के पास तो 400 की मेजॉरिटी थी. इन लोगों के पास 300 सीट है, वह भी कैसे, आपको पता है. उसके बाद भी इतना अंहकार है.

कृषि कानूनों के पास होने की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए ममता ने कहा कि हमारी पार्टी ने वोट की मांग की लेकिन उन्होंने सिर्फ कहा वोट और कानून बन गया. पसंद नहीं है तो गोली मार दो. ममता ने आरोप लगाया कि बीजेपी पैसा देकर लोगों को रैली में बुला रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस सरकार में जमकर दुरुपयोग हुआ. बंगाल में रह रहे अलग-अलग राज्य के लोगों के साथ एक मीटिंग में ममता ने दावा किया कि टीएमसी की सरकार आने के बाद किसी के साथ कोई अत्याचार नहीं हुआ.

ममता ने कहा कि इतनी ढिठाई कभी किसी में नहीं रही. हर राज्य से कोई ना कोई मंत्री, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति हुआ. लेकिन ऐसा कभी नहीं देखा. सीएम ने कहा कि मैं जमीनी कार्यकर्ता हूं और मैं जमकर मुकाबला करूंगी. ममता ने कहा कि ये मुझे क्या हिन्दी सिखाएंगे. मैं कान पकड़कर इनको हिन्दी सिखाऊंगी.