अब मप्र के इन जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट,प्रशासन ने कसी कमर

अब मप्र के इन जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट,प्रशासन ने कसी कमर

 मध्यप्रदेश के पूर्वी हिस्से में शुक्रवार को कुछ जिलों में हल्की व भारी बारिश की आशंका जताई गई है। मौसम विभाग ने बताया कि मध्यप्रदेश के जबलपुर, सीधी, ग्वालियर, सागर, उमरिया और मलाजखंड सहित कुछ स्थानों पर शुक्रवार को हल्की बारिश दर्ज की जा सकती है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में कई स्थानों पर गुरुवार दोपहर के बाद से बादल छाए हुए हैं और कुछ जिलों में हल्की बारिश भी दर्ज की गई है।मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार रीवा संभाव में आने वाले जिलों अनूपपुर, डिंडौरी, शहडोल, सिवनी, नरसिंहपुर , छिंदवाड़ा, मंडला, बालाघाट, छतरपुर और टीकमगढ़ जिलों में कहीं-कही भारी बारिश की संभावना है। राज्य के अन्य इलाकों में हल्की या मध्यम बारिश होनी की संभावना है।भोपाल स्थित मौसम विभाग के वैज्ञानिक एके शुक्ला के मुताबिक बीते कुछ दिनों से बंगाल की खाड़ी में बना कम दवाब का क्षेत्र का असर अब मध्यप्रदेश में असर दिखा रहा है। बंगाल की खाड़ी में बने इस सिस्टम का असर झारखंड, ओडिशा तक पहुंचने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश के उत्तरी और पश्चिमी हिस्से में ज्यादा बारिश होने की संभावना है।बालाघाट मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 28 अगस्त 2020 को बालाघाट जिले में रुक रुक कर तेज हवाओं के साथ अति भारी वर्षा और वज्रपात की सम्भावना है, बारिश की तीव्रता 20 एम. एल. प्रति घंटा तथा हवा की गति 45 किलो मीटर पति प्रति घंटे से रहने की सम्भावना है।मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरप्रदेश में भी एक मानसून द्रोणिका सक्रिय है। यह द्रोणिका फिलहाल काफी ऊंचाई है। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार को बारिश की उम्मीद कम है, लेकिन पूर्वी मध्यप्रदेश के कुछ जिलों में हल्की बारिश होने की संभावना है।शहडोल जिले में बुधवार की रात से शुक्रवार की सुबह अब तक बारिश का सिलसिला जारी है स्थिति यह है कि जिले में बारिश के चलते खेतों में पानी भरा हुआ है तालाब नदी नाले सब पानी से लबालब हो गए हैं। बाणसागर बांध 90% से ऊपर भर चुका है बाणसागर बांध का खतरे का निशान 341.64 पीटर है अब की स्थिति के बारे में गौर करें तो शुक्रवार की सुबह 8:00 बजे बांध का जलस्तर 341.11 मीटर दर्ज किया गया है। बाणसागर बांध के अधिकारियों ने बताया है कि बांध से पानी छोड़ा जा रहा है इस समय बांध से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है गुरुवार को 18 मिलीमीटर बारिश जिले में दर्ज की गई है यदि हम बारिश की बात करें तो जिले में 1 जून से लेकर 27 अगस्त तक 702 मिलीमीटर औसत बारिश दर्ज की गई है यह पिछले साल की तुलना में तकरीबन डेढ़ सौ मिली मीटर अधिक है।