तो क्या इस साल रद्द हो जाएंगी बोर्ड परीक्षाएं?

तो क्या इस साल रद्द हो जाएंगी बोर्ड परीक्षाएं?

श में कोरोना संक्रमण के बढ़ते केस के कारण बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने की मांग उठने लगी हैं. इसके लिए ट्विटर पर #cancleboardexams2021 ट्रेंड चलाया जा रहा है. कई यूजर्स ने लिखा है कि कई देशों ने अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. भारत में भी यह कदम उठाया जाना चाहिए. कई यूजर्स 10वीं और 12वीं के स्टूडेंटस को प्रमोट करने और बिना परीक्षा के ही पास करने की भी मांग कर रहे हैं.

कई यूजर्स ने महाराष्ट्र में होने वाली बोर्ड परीक्षा टालने की मांग की है. महाराष्ट्र में गंभीर होती कोरोना महामारी की स्थिति के कारण राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने पहली से आठवीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के ही पास करने का फैसला किया है. इसके बाद अब मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने 10वीं और 12वीं के छात्रों को भी सीधे पास किए जाने की मांग की है. उनका कहना है कि कोरोना का खतरा लगातार बढ़ रहा है. इसका अंदाजा होने के बाद भी महानगरपालिका और सरकार ने इस संदर्भ में कोई ठोस कदम नहीं उठाया है.

छत्तीसगढ़ में भी बोर्ड परीक्षाएं टालने की मांग उठने लगी हैं. कोरोना संक्रमण को लेकर विद्यार्थी और उनके अभिभावक भी चिंतित हैं. अभिभावकों ने मांग की है कि परीक्षाएं आगे बढ़ा देना चाहिए. दुर्ग से विधायक अरूण वोरा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर 15 अप्रैल से होने वाली 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की है. उन्होंने अपने पत्र में छत्तीसगढ़ शिक्षक कांग्रेस, भिलाई के अनिल शुक्ला के संलग्न पत्रक का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से परीक्षाओं को स्थगित करने का अनुरोध किया है.