PUBG ने ली एक और युवक की जान, मां ने नहीं किया इंटरनेट पैक का रिचार्ज तो बेटे ने लगाई फांसी

PUBG ने ली एक और युवक की जान, मां ने नहीं किया इंटरनेट पैक का रिचार्ज तो बेटे ने लगाई फांसी

युवाओं में और टीनएज बच्चों में पॉपुलर गेम पब्जी से जुड़े कई किस्से सुने  गए जहां पर पब्जी प्लेयर्स द्वारा खुदकुशी करने की भी खबरें सामने आई। एक बार फिर ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश के भोपाल से सामने आया है जहां एक आईटीआई स्टूडेंट ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बताया जा रहा है कि स्टूडेंट को पब्जी गेम खेलने की आदत लग गई थी जब उसकी मां ने पब्जी गेम के लिए इंटरनेट पैक रिचार्ज नहीं कराया तो उसने फांसी के फंदे पर लटककर अपनी जान दे दी। मामला बागसेवनिया इलाके का है यहां रहने वाले नीरज कुशवाहा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली| नीरज एक आईटीआई स्टूडेंट था। पुलिस ने बताया कि नीरज के पिता अपने छोटे बेटे सूरज के साथ बाग मुगालिया स्थित निर्माणाधीन मकान पर गए थे उनकी मां पिता और भाई को खाना पहुंचाने गई थी और उसी बीच नीरज ने अंदर से दरवाजा बंद करके फांसी लगा ली। घर लौटने के बाद नीरज के परिवार वालों ने नीरज को फांसी के फंदे में झूलते हुए देखा और पड़ोसियों की मदद से दरवाजा खोला और उसको नीचे उतारा लेकिन तब तक नीरज की जान जा चुकी थी।  मृतक नीरज की मां से पुलिस ने जब पूछताछ की तो नीरज की मां सविता ने बताया कि नीरज पब्जी गेम खेलने के लिए 3 महीने का इंटरनेट पैक रिचार्ज कराने की जिद कर रहा था लेकिन सविता ने उसे 1 महीने का रिचार्ज कराने के लिए कहा तो वह मां से झगड़ने लगा हालांकि सविता को नहीं पता था कि इतनी सी बात को लेकर उनका बेटा इतना बड़ा कदम उठा लेगा। परिजनों ने पुलिस को यह भी बताया कि लॉक डाउन होने की वजह से नीरज रात को 2- 2 बजे तक पब्जी गेम खेलता था। हालांकि पुलिस इस केस से जुड़े तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है। पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है की नीरज के आत्म्हायता का कारण क्या वाकई पब्जी गेम है| युवाओं के बीच पॉपुलर पब्जी गेम और इससे जुड़े हादसे से यह बताते हैं कि युवा वर्ग में इस गेम का किस तरह से एडिक्शन हुआ है। पब्जी प्लेयर्स को यह ध्यान रखना होगा कि यह मात्र एक गेम है इसको खुद पर और अपने दिमाग पर हावी ना होने दें।