जमीनी विवाद में खूनी खेल,6 लोगों की तलवार से की गयी हत्या

जमीनी विवाद में खूनी खेल,6 लोगों की तलवार से की गयी हत्या

मध्य प्रदेश का मंडला जिला बुधवार को खूनी खेल से दहल उठा. यहां दो परिवारों के ज़मीन के विवाद में बीजेपी नेता सहित उनके परिवार के 6 लोगों की दिन दहाड़े हत्या कर दी गयी.इस खुनी संघर्ष में एक आरोपी भी मारा गया है .आरोपियों ने  सभी पर तेजधार हथियार से वार किया था.वहीं, हत्या के एक आरोपी को ग्रामीणों ने पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया. दूसरे आरोपी को बीजाडांडी इलाके से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वारदात से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. इधर, ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप भी लगाया है. ग्रामीणों का आरोप है कि वारदात के दौरान पुलिस चौकी में कोई भी मौजूद नहीं था. बवाल के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची. 

हत्या के इस पूरे मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह कुशवाह का कहना है कि मध्य प्रदेश में मंडला जिले के मनेरी गांव में दो परिवारों में आपसी विवाद हुआ. इसमें एक ही परिवार के 6 लोगों की दो सगे भाइयों ने धारदार हथियारों से कथित तौर पर हत्या कर दी.औद्योगिक क्षेत्र मनेरी में भाजपा नेता समेत परिवार के छह सदस्यों की हत्या कर दी गई है. जमीनी विवाद में पुरानी रंजिश के चलते रिश्ते के भाईयों ने तलवार से हमला कर छह लाशें बिछा दी. यही नहीं, रिश्तेदार और बचाने आये पड़ोसियों को भी नही बक्शा गया. इस हमले में दो मासूम बच्चों की भी मौत हुई है. छह अन्य घायलों को जबलपुर रैफर किया गया है.जबकि इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. जानकारी के मुताबिक, बीजाडांडी थाना क्षेत्र के औद्योगिक क्षेत्र मनेरी में राजेन्द्र सोनी और उसके रिश्ते के भाई हरीश और संतोषी सोनी के बीच जमीनी विवाद चल रहा है. बुधवार की दोपहर करीब 12.30 रिश्ते के भाई हरीश सोनी और संतोष सोनी ने राजेंद्र सोनी पर घर में घुसकर तलवार से हमला कर दिया. राजेन्द्र सोनी की चीख सुनकर उनकी बेटी प्रियंका सोनी  आयी तो उस पर भी तलवार से हमला कर दिया. आरोपियों ने  राजेन्द्र सोनी के बेटे नितिन सोनी पर घर के बाहर तलवार से वार किये, तो पड़वार से बाइक से आये समधी दिनेश सोनी पर भी हमला कर दिया. यहां आरोपियों ने बचाने आये पड़ोसी सुनील तिवारी और शानू तिवारी को भी घायल किया है. आरोपी दूसरे घर में जाकर भाई विनोद सोनी, पत्नी रिंकी सोनी पर हमला कर उनके मासूम बच्चे ओम सोनी और श्रेयांश सेानी को भी नही बक्शा. इस हमले में राजेंद्र सोनी, प्रियंका सोनी, विनोद सोनी, ओम सोनी,श्रेयांश सोनी और दिनेश सोनी की मौत हो गई है. अन्य सभी छह नितिन सोनी, रिंकी सोनी, सुनील तिवारी, शानू तिवारी, झनकी लाल चक्रवर्ती, दुखिया बाई को घायल अवस्था में उपचार के लिए जबलपुर भेजा गया है.