सेल्फी लेना लड़कियों को पड़ा भारी...

सेल्फी लेना लड़कियों को पड़ा भारी...
सेल्फी लेना पढ़ा भरी

सेल्फी लेने के चकर में अपनी जान की चिंता छोड़कर सेल्फी को जादा महत्त्व देने लगे है. छिंदवाड़ा की 2 लडकियों को सेल्फी लेना पढ़ा भारी. लोग सेल्फी के चकर में भूल जाते है और आपने जान से हाथ दो बैठते है.  मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में Selfie का प्यार 2 लड़कियों के लिए जान की आफत बन गया. परफेक्ट सेल्फी लेने की कोशिश में दोनों लड़कियां पेंच नदी के बीच में पत्थर पर जाकर बैठ गईं. इसी बीच अचानक नदी का जलस्तर बढ़ गया एवं बहाव तेज हो गया और दोनों नदी में ही फंस गई. घटना छिंदवाड़ा के जुन्नारदेव तहसील के बेलखेड़ी गांव की पेंच नदी के बहाव वाले इलाके में हुई जहां 8 लड़कियों का समूह पिकनिक मनाने के लिए पहुंचा था. जुन्नारदेव डूंगरिया की वार्ड नंबर 3 में रहने वाली मेघा जवारेकर व वार्ड नंबर 2 की वंदना त्रिपाठी नदी में फंसी थीं. उनको इस हालत में देख उनके साथ गई युवतियों ने पुलिस व प्रशासन को सूचना दी. इसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन कर उन्हें नदी से बाहर निकाला गया. सेल्फी के चक्कर में जान को दांव पर लगाने की यह पहली घटना नहीं है, लेकिन आश्चर्य है कि कोविड 19 के संक्रमण के चलते सामूहिक पिकनिक पर पाबंदी के बाद भी लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. वैसे भी, बारिश के मौसम में नदियों के जलस्तर में उतार-चढ़ाव सामान्य घटना है. इसके बावजूद लड़कियां नदी के बीच पहुंच गईं, क्योंकि प्रशासन ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए हैं.