मध्यप्रदेश मध्यप्रदेश में अनलॉक-3: अब सिर्फ रविवार को होगा लॉकडाउन, शनिवार को खुले रहेंगे बाजार

मध्यप्रदेश  मध्यप्रदेश में अनलॉक-3:  अब सिर्फ रविवार को होगा लॉकडाउन, शनिवार को खुले रहेंगे बाजार

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कोरोना की समीक्षा में लिए गए निर्णयों की जानकारी दी. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि होम आइसोलेशन एवं होम क्वारैंटाइन के लिए गाइडलाइन जारी करें. मध्य प्रदेश में अब सिर्फ रविवार को लॉकडाउन होगा. किसी भी जिले में शनिवार और रविवार दो दिन का लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा. बाजार अब 8 के बजाए रात को 10 बजे बंद होंगे. नाइट कर्फ्यू अब रात 10 से सुबह 5 बजे तक रहेगा. अब होटल और रेस्टोरेंट रात 10 बजे तक खुले रहेंगे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना की समीक्षा में ये निर्णय लिया. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कोरोना समीक्षा बैठक में लिए निर्णयों की जानकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी. उन्होंने कहा कि कोरोना के गुरुवार को 830 नए केस मिले हैं, वहीं ठीक हुए केस 838 हैं. मध्यप्रदेश में कोरोना पेशेंट की ठीक होने की दर हर रोज की अच्छी होती जा रही है. हमारे प्रदेश में रिकवरी रेट 70 से बढ़कर 73.6 हो गया है. अभी तक 26902 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. अब प्रदेश में लॉकडाउन केवल सप्ताह में एक दिन रविवार को रहेगा तथा रात्रि कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 05 बजे तक रहेगा. जिलों की विशेष परिस्थितियां होने पर राज्य स्तर से अनुमति लेकर ही लॉकडाउन के संबंध में कोई अन्य कार्रवाई की जा सकेगी. बता दें कि भोपाल में 24 जुलाई की रात 8 बजे से 4 अगस्त की सुबह 5 बजे तक टोटल लॉकडाउन किया गया था. लॉकडाउन लगने के ठीक पहले भोपाल में सब कुछ खोल दिया गया था, बाजार भी रात को 10 बजे तक खुल रहे थे, जिसमें रेस्टोरेंट और होटल भी शामिल थे. लॉकडाउन 4 अगस्त को सुबह से खुला तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट, जिम और स्पॉ को छोड़कर सब खोल दिया गया. हालांकि, केंद्र सरकार की अनलॉक-3 की गाइडलाइन में जिम और स्पॉ को खोलने की अनुमति मिल गई है. लॉकडाउन के बाद मंगलवार, बुधवार को बाजार रात को 8 बजे तक ही खोलने के आदेश दिए गए थे और शनिवार-रविवार को लॉकडाउन किया जाना था, लेकिन गुरुवार को सरकार ने नया फैसला लेते हुए बाजार को 10 बजे तक खोलने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री ने कोरोना समीक्षा में कहा है कि बिना लक्षण वाले मरीजों के "होम आइसोलेशन" तथा संदिग्ध मरीजों को "होम क्वारैंटाइन" किए जाने के लिए विस्तृत गाइड लाइन स्वास्थ्य विभाग जारी करे, जिससे ऐसे व्यक्ति जिनके घर पर पर्याप्त स्थान है तथा जो स्वेच्छा से "होम आइसोलेशन" या "होम क्वारैंटाइन" होना चाहते हैं, उनकी मदद की जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना लाइलाज बीमारी नहीं है तथा सभी ठीक हो जाते हैं, यदि मरीज को समय से अस्पताल लाया जाए. विलंब से अस्पताल लाने पर यह घातक हो सकता है. इसके लिए टेस्टिंग बढ़ाएं, जिससे समय से बीमारी का पता चल सके. अभी प्रति 10 लाख हमारी टेस्टिंग 10294 है. इसके साथ यह भी आवश्यक है कि जनता को जागरूक किया जाए कि कोरोना के लक्षण दिखने पर व्यक्ति को तुरंत अस्पताल लाएं. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने खरगोन की 100 साल की वृद्ध महिला रुक्मणी देवी पति खुशाल चौहान के हौसले को सलाम किया. सीएम ने कहा कि रुक्मणी देवी ने कैंसर से पीड़ित होने के बाद भी वे कोरोना को परास्त किया है तो हम क्यों नहीं कर सकते. बड़वाह की सुराणा नगर वासी रुक्मणी देवी 21 जुलाई को कोरोना पॉजीटिव आई थीं. वे 'ओवरी कैंसर' से भी पीड़ित थीं. रुक्मणीदेवी का "होम आइसोलेशन" किया गया तथा डॉक्टर्स की निगरानी में इलाज हुआ. इस दौरान रुक्मणी देवी ने योग, प्राणायाम भी निरंतर जारी रखा. सही इलाज, नियमित दिनचर्या और आत्मबल से कोरोना को हरा दिया. वे हम सबके लिए प्रेरणा हैं.