MP उपचुनाव: ग्वालियर-चंबल में जीत के लिए सचिन पायलेट संभालेंगे कमान

MP उपचुनाव: ग्वालियर-चंबल में जीत के लिए सचिन पायलेट संभालेंगे कमान

 प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर पार्टियाँ जोरो शोरो से मैदान में है| इन दिनों भाजपा और कांग्रेस के नेताओ ने  एक दुसरे पर मकड़ी के जाले जैसे आरोपों को मढने में लगे है| हर दिन सभाओ का दौर चल रहा है लेकिन हो रहे सभाओ का दौर कुछ फीका पड़ गया है| मध्यप्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में बीजेपी को मात देने के लिए कांग्रेस ने अपना अभियान और आक्रामक करने की योजना बनाई है| इसके तहत कांग्रेस छोडकर बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले ग्वालियर चंबल के इलाके में चुनावी जीत के लिए कांग्रेस ने बड़ी रणनीति बनाते हुए इसके तहत सिंधिया के पुराने मित्र और राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट को चुनाव में उतारा जा रहा है जो ग्वालियर में पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ के मिडिया समन्वक नरेद्र सलूजा ने जानकारी देते हुए बताया कि पायलट  27 और 28 अक्टूबर को शिवपुरी जिले की नरवर और सतनवाड़ा में मुरैना जिले के सुमावली व भिंड और ग्वालियर जिले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे और वहा की रणनीति के बारे में चर्चा करेंगे| इसके अलावा पायलट मुरैना विधानसभा सीट के नूराबाद क्षेत्र में, दिमनी विधानसभा क्षेत्र के मनबसाई और  गोरमी विधानसभा सहित गोहद में पार्टी कार्यकर्ताओं के बैठकों में शामिल होंगे. इसके अलावा सचिन पायलट 28 अक्टूबर को ग्वालियर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजन भी करेंगे. राजनीतिक पर्यवक्षेकों के अनुसार बताया गया की 28 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में 16 सीटें ग्वालियर-चंबल इलाके में आती हैं. इस क्षेत्र में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का काफी प्रभाव माना जाता है. इन सीटों पर गुर्जर समुदाय का भी प्रभाव है और पायलट इसी समुदाय से आते हैं. स्पष्ट है कि कांग्रेस पार्टी ने इस सब वजहों को ध्यान में रखते हुए यहां सचिन पायलट को रणनीति तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी है. पिछले दिनों कांग्रेस द्वारा मध्य प्रदेश उपचुनाव के लिए जारी की गई 30 स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी सचिन पायलट का नाम शामिल है.