दूरदर्शन में हर रोज अब प्रसारित होगा पहली से 12वी के छात्र छात्राओं के लिए कार्यक्रम

दूरदर्शन में हर रोज अब प्रसारित होगा पहली से 12वी के छात्र छात्राओं के लिए कार्यक्रम

लॉक डाउन के बाद से सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं लेकिन मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग हर दिन छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन क्लासेस लेकर सिलेबस पूरा करने में जुटा हुआ है।कोरोना वायरस और लॉक डाउन के कारण पढ़ाई में जो देरी हो रही है स्कूल शिक्षा विभाग उसे हर तरह से कवर करने की कोशिश कर रहा है।स्कूल शिक्षा विभाग प्रदेशभर के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के लिए अब एक और कदम बढ़ाने जा रहा है| इसके पहले मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग हर दिन छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन क्लास लेकर सिलेबस पूरा करने में जुटा हुआ था लेकिन अब ऑनलाइन क्लासेस के साथ-साथ स्कूली छात्र-छात्राएं शैक्षिक टीवी कार्यक्रम क्लासरूम के जरिए अपनी पढ़ाई पूरी कर सकेंगे। बता दे सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल शिक्षा विभाग में दूरदर्शन पर एक नए कार्यक्रम की शुरुआत की है शैक्षिक टीवी कार्यक्रम के जरिए छात्र छात्राएं अब टीवी के जरिए अपनी पढ़ाई कर सकेंगे। टीवी पर आने वाले दूरदर्शन चैनल पर छात्र-छात्राओं की हर दिन 3 घंटे पढ़ाई करवाने का खाका तैयार किया गया है| हफ्ते में  7 दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं के लिए सुबह और शाम टीवी पर क्लासेस के जरिए पढ़ाई करवाई जाएगी बता दें कि 11 मई से 10 जून तक यह कार्यक्रम हर रोज दूरदर्शन पर प्रसारित किया जाएगा।स्कूल शिक्षा विभाग में पहली से लेकर 12वीं तक के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के लिए अलग-अलग समय निर्धारित किया है।बता दे सुबह 10:30 बजे से 11:00 बजे तक पहली से पांचवी कक्षा की क्लासेस होंगी 11:00 से 12:00 तक 6:00 से 11 तक के छात्र-छात्राओं की क्लासेस लगेंगे वहीं दोपहर 12:00 से 1:00 बजे तक कक्षा 10वीं और दोपहर 3:00 से 4:00 बजे तक कक्षा बारहवीं के लिए कार्यक्रम तैयार कराए गए हैं।10वीं और 12वीं के छात्र छात्राओं के लिए वीडियो अपलोड भी किए गए हैं जिसमें स्टूडेंट्स के फीडबैक के आधार पर कठिन यूनिट के लिए अलग से वीडियो अपलोड किए जाएंगे। इसके साथ ही  शिक्षकों को घर से कार्यक्रम की मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। लॉक डाउन की शुरुआत में ही राज्य शिक्षा केंद्र ने प्रदेश भर के छात्र छात्राओं के लिए रेडियो स्कूल कार्यक्रम की भी शुरुआत की है राज्य शिक्षा केंद्र का रेडियो के जरिए पढ़ाई करने का मुख्य उद्देश्य रहा है कि ग्रामीण इलाकों के छात्र-छात्राओं को भी पढ़ाई में आसानी हो।इस टीवी कार्यक्रम के जरिए पहली से बारहवीं के छात्रों की पढ़ाई पूरी करवाने का जिम्मा स्कूल शिक्षा विभाग में उठा लिया है।