लॉकडाउन में छिना रोजगार तो उगाया नई क्वालिटी का गन्ना, अब हर तरफ इसकी मांग

लॉकडाउन में छिना रोजगार तो उगाया नई क्वालिटी का गन्ना, अब हर तरफ इसकी मांग

लॉकडाउन ने रोजगार छीना तो ग्राम जाफरखेड़ी के मध्यमवर्गीय किसान बाबूलाल लोधी ने अपनी 4 बीघा जमीन में नई क्वालिटी के 8 हजारी गन्ने की खेती शुरू कर दी। करीब डेढ़ लाख रुपये की लागत से 8 माह में ही उनकी फसल तैयार हो गई। इस गन्ना में मिठास और रस दोनों ही अधिक होने के कारण गन्ने की जिले भर में मांग चल रही है। इस फसल से उन्हें करीब 6 लाख रुपये आमदनी होने की उम्माीद है। देवउठनी एकादशी के मौके पर वह यह गन्ना बाजार में भी बेचने लाएंगे।किसान बाबूलाल लाेधी ने बताया कि वह ट्रक ड्रायवर थे, लेकिन लॉकडाउन के दौरान उनका रोजगार छिन गया। जिससे उनके सामने परिवार का भरण पोषण करने की समस्या अा गई। इसी दौरान किसी ने उन्हें अपनी जमीन में परंपरागत खेती से हटकर कुछ नई फसल लगाने की सलाह दी।इसके बाद उन्होंने गन्ना की खेती को चुना और बाहर से 8 हजारी क्वालिटी का गन्ना मंगाकर खेती शुरू कर दी। वर्तमान में फसल तैयार हो गई। अन्य गन्नों की अपेक्षा इस गन्ने की लंबाई और मोटाई ज्यादा हैं जिसके चलते इसकी मांग भी बढ़ रही है। वह बताते हैं कि जैसे-जैसे लाेगों को इसकी जानकारी मिलती जा रही है वह खेत पर पहुंचकर गन्ने की डिमांड करने लगे हैं।