शीतकालीन सत्र में स्वतंत्र विधेयक ला रही सरकार

शीतकालीन सत्र में स्वतंत्र विधेयक ला रही सरकार

लव जिहाद को लेकर कानून बनाने वाली प्रदेश सरकार अब इससे और सख्त बनाने पर विचार कर रही है ऐसा कानूनविदो की सलाह पर किया जा रहा है इस कानून में अब 5 साल की बजाय 10 साल की सजा का प्रावधान किया जा रहा है ताकि आरोपी किसी भी कीमत पर गिरफ्तारी से ना बच पाए इसके अलावा जमानत के प्रावधान को भी खड़ा किया जाएगा जानकारी के अनुसार इसके लिए सरकार यूपी में हाल ही में बने कानून का भी अध्ययन करेगी लव जिहाद को लेकर शासन स्तर पर खाका तैयार किया जा रहा है आज गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रमुख सचिव गृह पुलिस महानिदेशक प्रमुख सचिव विधि व संसदीय कार्य समेत अन्य अफसरों की बैठक बुलाई बैठक में सजा के प्रावधान पर विचार किया जा सकता है आज मंत्रालय में होने वाली बैठक को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने बताया कि धर्म स्वतंत्र विधेयक के मसौदे को अंतिम रूप देने के लिए बैठक रखी गई है जिसे अंतिम रूप देने के बाद कैबिनेट बैठक में रखा जाएगा उसके बाद विधानसभा सत्र में प्रस्तुत किया जाएगा गौरतलब है कि राज्य सरकार ने विधानसभा में शीतकालीन सत्र में स्वतंत्रता विधेयक 2020 ला रही है इस विधेयक के जरिए सरकार द्वारा लगाने की कोशिश की जाएगी विधायक मिलकर विवाह करने में परिवर्तन की प्रक्रिया को कठिन किया जा सकता है इस महीने पहले कलेक्टर कार्यालय में आवेदन करना अनिवार्य बनाया जा रहा है|