इमारती देवी ने दी मंत्री पद से स्तीफा

इमारती देवी ने दी मंत्री पद से स्तीफा

शिवराज सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री रही इमरती देवी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है इसकी पुष्टि खुद इमरती देवी ने की है अब उन्हें सीएम शिवराज की मंजूरी का इंतजार है|आपको बता दे की इमरती देवी डबरा विधानसभा से चुनाव लड़ी थी और चुनाव में हार का सामना करना पड़ा इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मिलने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया| इमरती देवी का कहना है कि मैंने तो इस्तीफा दे दिया है,लेकिन अब इस्तीफा मानना या ना मानना सीएम के हाथ में है|इमरती देवी ग्वालियर की डबरा सीट से हाल ही में हुए उपचुनाव में हार गई थी वह इस बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ी थी इमरती उससे पहले तक कांग्रेस में थी और लगातार   कांग्रेस की सीट से टिकट पाकर चुनाव जीतती आ रही थी सिंधिया समर्थक इमरती देवी ने सिंधिया की बीजेपी में जाने के बाद दल बदल लिया था और विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था उनके इस्तीफे के बाद सीट खाली हो गई थी और इस पर उपचुनाव हुआ था इसमें वह अपने समधी सुरेश राजे से करीब ढाई हजार वोटों से हार गई थी आपको बता दे की इमारती देवी कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में भी महिला बाल विकास मंत्री थी और दल बदलने के बाद शिवराज सरकार में भी उन्हें यही महकमा मिला था लेकिन उपचुनाव हारने के बाद से उनके इस्तीफे की अटकलें लगाई जा रही थी इतना ही नही इमरती देवी के बयानों से असल में चर्चाओं को बल मिला रहा था जो उपचुनाव हारने के बाद उन्होंने दिए थे इमरती देवी ने कहा था कि चुनाव हार गई तो क्या हुआ मंत्री तो मैं बनी रहूंगी फिर कहा था कि सरकार तो मेरी ही है| ग्वालियर चंबल में तीन मंत्री इंदल सिंह कंसाना, गिरिराज दंडोतिया और इमरती देवी को हार का सामना करना पड़ा है| जानकारी के अनुसार दो मंत्री पहले ही इस्तीफा दे चुके है लेकिन सिंधिया की खास होने के कारण इमरती देवी के इस्तीफे को लेकर लगातार अटकले लगाये  जा रहे थे इस्तीफा न देने के कारण कांग्रेस और भाजपा लगातार आमने सामने बनी हुई थी मामला तूल पकड़ने के बाद मंत्री ने स्थिति साफ की|