PM मोदी को लेकर मध्यप्रदेश में जारी है ट्विटर वार, शिवराज- दिग्विजय आमे सामने

PM मोदी को लेकर मध्यप्रदेश में जारी है ट्विटर वार, शिवराज- दिग्विजय आमे सामने

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोला है और यह हमला उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट में ट्वीट के जरिए किया है।दिग्विजय सिंह का मानना है कि पीएम मोदी खुद को मजबूत निर्णय लेने वाला नेता साबित करना चाहते हैं| इसके लिए वह पहले निर्णय लेते हैं और उसके बाद परिणाम के बारे में सोचते हैं दिग्विजय सिंह ने कहा कि पीएम मोदी ने नोटबंदी जीएसटी और अब नेशनल लॉक डाउन लागू करके यह साबित कर दिया है| दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में कहा कि कोरोना का पहला मामला सामने आने के बाद भी पीएम ने 30 जनवरी के बाद इस पर किसी भी तरह की कोई एक्शन नहीं लिया था इसके 40 से 50 दिन बाद उन्होंने इस पर कार्यवाही शुरू की। अपने एक अन्य ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने कहा कि हम एक संघीय राष्ट्र है पीएम मोदी पेज 3 की भीड़ के साथ बातचीत करने में व्यस्त थे लेकिन राष्ट्रीय लॉक डाउन की अपनी योजनाओं पर चर्चा करने के लिए उनके पास राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ बातचीत करने का समय नहीं था उन्होंने कहा कि पीएम ने 20 मार्च को सीएम के साथ अपनी पहली बैठक की लेकिन क्या उन्होंने नेशनल लॉक डाउन पर चर्चा की| जितनी मेरी जानकारी है उसके अनुसार नहीं।कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए उनसे जवाब मांगा| दिग्विजय सिंह के दिए गए बयान के बाद अब इस मुद्दे पर ट्विटर वार शुरू हो गया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दिग्विजय सिंह के आरोपों पर पलटवार करते हुए अपने ट्वीट में कहा कि कुछ लोग अपनी असफलता छिपाने के लिए अपना दोष दूसरों पर डालने का काम करते हैं| शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री ने हमेशा भारत के संविधान के मुताबिक संघीय ढांचे को प्राथमिकता दी है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पीएम ने वैश्विक महामारी कोविड-19 से लड़ने के लिए न सिर्फ देश का सक्षम नेतृत्व किया बल्कि पूरे विश्व को एक नई दिशा भी दिखाई है| पीएम ने हर कदम पर पूरे भारत के सभी मुख्यमंत्रियों से लगातार बात की सभी राजनीतिक दलों से भी बातचीत की और फिर देश हित में उचित निर्णय लिए। आपको बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण की संख्या बढ़ गई है अब यह संख्या बढ़कर 70756 हो चुकी है| जारी आंकड़ों के अनुसार देश में अभी तक कोविड-19 से 2293 लोगों की मौत हो चुकी है इसके अलावा अभी भी 46008 एक्टिव केस मौजूद है।