घर से बाहर ना निकलने वाले भी हो रहे कोरोना का शिकार, इंदौर में 61 मामले आए सामने

घर से बाहर ना निकलने वाले भी हो रहे कोरोना का शिकार,  इंदौर में 61 मामले आए सामने

मध्यप्रदेश के इंदौर में अब ऐसे मरीज सामने आ रहे हैं जो घर से बाहर निकले ही नहीं| उनकी न तो कोई ट्रैवल हिस्ट्री है ना ही कांटेक्ट हिस्ट्री न ही  वह किसी भी कोरोना मरीज के संपर्क में नहीं आए फिर भी उनमें कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। ऐसे मरीजों को लेकर स्वास्थ्य विभाग खुद हैरान है कि आखिरकार ऐसे लोग किस कारण से कोरोनावायरस के शिकार हो रहे है| ये स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी चिंता का विषय बन गया है कि जो लोग घरों से निकले ही नहीं वह कैसे संक्रमित हो रहे है। इंदौर  स्वास्थ्य अधिकारी इस बात की जांच में लगे हुए हैं कि सख्त लॉक डाउन के बावजूद इतनी बड़ी संख्या में मरीज किस कारण संक्रमित हो रहे हैं।जानकारी के मुताबिक 50 फ़ीसदी मामलों में तो मरीज की कांटेक्ट हिस्ट्री और ट्रैवल का पता ही नहीं लग पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक इंदौर में  कोरोना संक्रमित 61 मरीज ऐसे थे जो ना घर से निकले और ना ही कहीं गए| कोरोना हॉटस्पॉट बने इस एरिया में रहने के चलते  भी वह संक्रमित हो गए वही कुछ मरीज ऐसे हैं जिनसे पूछताछ में पता चला कि वह कुछ सामान्य बीमारियों के इलाज के लिए अस्पताल गए थे और संक्रमण का शिकार हो गए वहीं कुछ लोग संक्रमित मृतकों के जनाजे में शामिल हुए थे जिसके कारण संक्रमित हुए। इंदौर में कोरोना संक्रमण दिनों दिन तेज होता जा रहा है रोज बड़ी संख्या में मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन भी परेशान है।