लॉकडाउन में बढ़ी प्रवासी मजदूरों को परेशानी, ट्रेन लेट होने पर भूखे प्यासे इंतज़ार करते रहे मजदूर

लॉकडाउन में बढ़ी प्रवासी मजदूरों को परेशानी, ट्रेन लेट होने पर भूखे प्यासे इंतज़ार करते रहे मजदूर

देश में कोरोना से लड़ने के लिए और कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर बेहद परेशान हुए,  वे आज भी कड़ी धूप में किसी भी कीमत में अपने घर पहुंचना चाह रहे हैं। लेकिन सरकार के द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिए शुरू की गई ट्रेने है जो प्रवासी मजदूरों को उनके क्षेत्र में पहुंचाती है वही ट्रेने विवादों का शिकार होने लगी है| ऐसा ही हाल मध्यप्रदेश में देखा गया जहां प्रवासी कामगारों को लेकर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश और बिहार जा रहे 15 विशेष ट्रेन शुक्रवार को घंटों तक मध्य प्रदेश के खंडवा बुरहानपुर आसपास के स्टेशन पर खड़ी रही इसकी वजह यह थी कि भुसावल रेल मंडल यानी खंडवा के बाद भोपाल रेल मंडल की सीमा में प्रवेश के लिए परमिट उन्हें तेजी से मिल रहा था| इन ट्रेनों में सवार उत्तर प्रदेश और बिहार के करीब 15 हजार से अधिक प्रवासी कामगार परेशान हुए इस दौरान भूख और प्यास से बौखलाए मजदूरों ने स्टेशन पर बांटने के लिए रखी पानी की बोतल को लूट लिया परमिट मिलने में देरी से श्रमिक बेहद परेशान हुए और उन्हें घंटों तक इंतजार करना पड़ा जिससे मजदूरों में काफी आक्रोश है|