मध्यप्रदेश के छात्र  ने  दिया शिवराज सिंह के ट्वीट का जवाब

मध्यप्रदेश के छात्र  ने  दिया शिवराज सिंह के ट्वीट का जवाब

 

राज द्विवेदी ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज जी को उनके बयान पे ही जवाब दिया है उन्होने अपने ट्विटर अकाउंट पर कांग्रेस को निशाना साधते हुए कहा कि 12वी के बच्चो के भविष्य का सवाल है और वह सब कांग्रेस की सह के कारण कह रहे है कि अभी परीक्षा नहीं होनी चाहिए तो  राज द्विवेदी ने एक वीडियो बनाया है जो कि सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है उनके बयान के बाद जब विडियो वायरल होने लगा तो मुख्यमंत्री जी ने अपना बयान ट्विटर अकाउंट से 24 घंटे के अंदर अंदर डिलीट कर दिया है उन्होंने अपने वीडियो में कहा है कि आदरणीय शिवराज जी आपने बयान दिया है तो हम 12वी के विद्यार्थी है हम ना कोई भाजपा का ना कांग्रेस के है हम अपना हित और अहित जानते है मामा जी कई हमारे ऐसे भाई वा बहन है जिनके घर में आने जाने का कोई साधन नहीं है और उनका घर 20 किलोमीटर 30 किलोमीटर दूर है तो आखिर वह कैसे आएंगे 20 मार्च से परीक्षाएं रद्द कर दी तभी जब की मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का नामोनिशान नहीं था तब परीक्षाएं निरस्त कर दी गई थी और 25 मार्च से लॉकडाउन शुरू कर दिया था सभी लोग अपने घर के अंदर थे तब इस महामारी ने अपना दबदबा बनाया है कि आज प्रदेश 8000 लोग पहुंचने वाले है और भारत में 2लाख का आंकड़ा पूरा होने वाला है जब लॉकडाउन लागू होने  के   बावजूद इस महामारी में इतने संक्रमित हो रहे है 

तो जब प्रदेश भर के विद्यार्थी परीक्षा देने जाएंगे तब कहा से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होने पाएगा और कैसे प्रदश के भविष्य बच पाएंगे.

इसलिए माननीय मुख्यमंत्री वा हमारे मामा जी से अनुरोध है कि हमे जनरल प्रोमोशन नहीं चाहिए लेकिन जो आपने परीक्षाओं की तारीख 9 जून से 16 जून तक रखी है इससे हमारा जीवन ख़तम हो सकता है

हम कई तरह कि उलझनों में फस सकतें है इसलिए एक बार पुनः विचार करे और परीक्षा के तारीख आगे बढ़ाए

और उनका कहना है कि प्रदेश में  जितने लोग संक्रमित नहीं हो रहे है उतने लोग अब ठीक हो रहे है तो राज द्विवेदी ने कहा है कि जब ऐसा ही है तो ज्यादा दिन तक यह संक्रमण नहीं चल पाएगा आप कुछ दिन और परीक्षा की तारीख आगे बढ़ा दीजिए उसके बाद जब आप ही के रहे है कि संक्रमित ठीक हो रहें है तो आप जुलाई मै परीक्षा लिजिएं