जबलपुर में 74 दिन बाद खुले हेयर कटिंग सलून

 जबलपुर में 74 दिन बाद खुले हेयर कटिंग सलून

 

 मध्य प्रदेश के जबलपुर  ज़िले में सभी हेयर कटिंग सैलून  74 दिन बाद फिर खुल गए हैं. अनलॉक  के पहले चरण में जबलपुर जिले में छूट के अतिरिक्त आदेश जारी कर दिए हैं. शहर को तीन जोन में बांट दिया गया है, इसमें कंटेनमेंट, बफर जोन और ग्रीन जोन शामिल हैं. ग्रीन जोन में दुकानें अब सुबह सात से रात नौ बजे तक खुली रहेंगी. अब ऑड-ईवन का फॉर्मूला खत्म कर दिया गया है.

सुबह 7 से रात 9 बजे तक खुलें रहेंगे बाजार
ग्रीन जोन में ऑड-ईवन प्रणाली से बाजार खोलने की बाध्यता को खत्म कर दिया गया है  अब आराम से व्यापारी लोग अपनी दुकानों का संचालन कर सकते हैं  बाजार हर दिन सुबह सात बजे  से लेकर रात नौ बजे तक खुले रहेंगे. देश के अन्य शहरों की तरह जबलपुर भी अब अनलॉक की तर्ज पर धीरे-धीरे खुलने लगा है और अब लोगो  राहत की सांस ले पा रहे हैं . पहले ऑड- ईवन के हिसाब से दुकानें खोली जानी थीं. दुकानों को नंबर एलॉट किए गए थे लेकिन अब शहर को जोन में बांट दिया गया है. कलेक्टर ने अपने आदेश मे स्पष्ट किया है कि कंटेनमेंट जोन में किसी तरह की छूट नहीं रहेगी. वहां सभी प्रकार की गतिविधियों पर बैन रहेगा.

कंटेनमेंट जोन से जुड़े बफर जोन में स्टैंड अलोन दुकानें, राज्य शासन से लाइसेंस प्राप्त दुकानें और मोहल्ले की दुकानें खोली जा सकेंगी. बफर जोन में बाजारों और बाजार परिसर स्थित दुकानें ऑड-ईवन प्रणाली से खोली जा सकेंगी. हाथ ठेला, हेयर कटिंग सलून, पॉर्लर और पान-गुटखा की दुकानें बंद रहेंगीं. बफर जोन में आवश्यक वस्तुओं की दुकानें जैसे मेडिकल स्टोर, दूध, फल-सब्जी आदि की सभी दुकानें खुली रहेंगी. इन पर ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू नहीं होगा.



74 दिन  के लम्बे   इंतज़ार के बाद खुले हेयर कटिंग सलून

लम्बे  समय के बाद लोगो में अब राहत की किरण देखने को मिल रही हैं
आदेश में स्पष्ट कहा गया है कि किसी भी बफर जोन को कंटेनमेंट जोन घोषित होने की स्थिति में यह छूट तत्काल प्रभाव से निरस्त  हो जाएंगी. आदेश में यह भी कहा गया है कि ग्रीन जोन में बाजार ऑड-ईवन प्रणाली से मुक्त रहेंगें. यहां गैर अनुमति गतिविधियों को छोड़कर सभी प्रकार की दुकानें, स्टैंड अलोन, मोहल्ला की दुकानें, बाजार और बाजार परिसर स्थित दुकानें खुली रहेंगी. सभी तरह के औद्योगिक संस्थान खुले रहेंगे. खेल मैदान, स्पोर्ट्स स्टेडियम केवल खिलाड़ियों के अभ्यास के लिए खुलेंगे. खेल मैदान में दर्शक के रूप में कोई मौजूद नहीं रहेगा. कंटेनमेंट और बफर जोन को छोड़कर पूरे जिले में हेयर कटिंग सलून और पार्लर खोले जा सकेंगे. इसके लिए तय किये गए स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (SOP) का पालन करना होगा. नये आदेश लागू होने के बाद जिले के सभी कटिंग सूलन 74 दिन बाद एक बार फिर खुल गए हैं.