नगर निगम चुनाव, टिकट नहीं मिलने पर ना करें पार्टी से बगावत -पूर्व मंत्री हर्ष यादव

नगर निगम चुनाव,  टिकट नहीं  मिलने पर ना करें पार्टी  से बगावत -पूर्व मंत्री हर्ष यादव

रविवार को रीवा नगर निगम के चुनाव प्रभारी पूर्व मंत्री हर्ष यादव ने दावेदारों से मुलाकात की

साथ ही टिकट की चयन समिति के साथ भी बैठक कर उन्होंने पार्टी की गाइडलाइन बताई। इस दौरान सभी दावेदारों से वचन पत्र लिया गया है कि वह पार्टी के सिद्धांतों के अनुरूप काम करेंगे और यदि उन्हें टिकट नहीं मिलेगी तो किसी तरह से पार्टी के साथ बगावत नहीं करेंगे और न ही विपक्षी प्रत्याशियों के समर्थन में कोई काम करेंगे। यह वचन पत्र महापौर के साथ ही पार्षदों के लिए दावेदारों से भी लिए गए हैं। इस पर प्रभारी हर्ष यादव ने कहा है कि पार्टी का यह आंतरिक मामला है, अनुशासन के दायरे में ही सारे काम किए जा रहे हैं। जो संगठन के सिद्धांतों के विपरीत काम करेगा उसके विरुद्ध आगे सख्त कार्रवाई भी होगी।

प्रत्याशी चयन समिति की बैठक देर शाम हुई। जिसमें पार्टी के जिला एवं शहर अध्यक्ष के साथ ही पिछले चुनाव के लोकसभा एवं विधानसभा के प्रत्याशी, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, एनएसयूआइ के प्रतिनिधि, नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष आदि शामिल हुए।

इस बैठक में एक बात पर आम सहमति बनी है कि टिकट उसी नेता को दी जाए जिसे शहर की राजनीतिक एवं भौगोलिक समझ हो। पार्टी के लिए लंबे समय से काम करने वाले व्यक्ति को ही महापौर का टिकट मिलना चाहिए। वहीं महापौर पद के लिए जिन नेताओं ने दावा पेश किया है उसमें प्रमुख रूप से शहर अध्यक्ष गुरमीत सिंह मंगू, नेता प्रतिपक्ष अजय मिश्रा बाबा, कविता पाण्डेय, गोविंद शुक्ला, विनोद शर्मा, शिवप्रसाद प्रधान, मानवेन्द्र सिंह नीरज, अनुपम तिवारी, बृजेश पाण्डेय, सज्जन पटेल, डॉ. विनोद शुक्ला सहित अन्य शामिल रहे।