जानिए 20 लाख करोड़ रुपए की पैकेज में किसे क्या मिला

जानिए 20 लाख करोड़ रुपए की पैकेज में किसे क्या मिला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया और कोरोनावायरस के बीच अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए 20 लाख करोड रुपए के पैकेज का ऐलान किया।इस पैकेज के बारे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज विस्तार से जानकारी दी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया की इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ा कर 30 सितंबर तक कर दिया गया है। इसी तरह विवाद से विश्वास स्कीम की डेडलाइन को 31 दिसंबर 2020 तक कर दिया गया है।

टैक्सपेयर को 31 मार्च 2021 तक टीडीएस कटौती में 25 फ़ीसदी की राहत मिली है।

रियल एस्टेट के मामले में एडवाइजरी जारी होगी कि सभी प्रोजेक्ट्स को मार्च से आगे 6 महीने तक मोहलत दी जाए।

बिजली वितरण कंपनियों की मदद के लिए इमरजेंसी लिक्विडिटी 90 हजार करोड़ रुपए दी जाएगी।

नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी, माइक्रोफाइनेंस कंपनियों के लिए 30,000 करोड़ की विशेष लिक्विडिटी स्कीम लाई जा रही है।

एनबीएफसी को 45 हजार करोड़ की पहले से चल रही योजना का विस्तार होगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि सरकार अब अगस्त तक कंपनी और कर्मचारियों की तरफ से 12 फ़ीसदी+12 फ़ीसदी की रकम EPFO में जमा करेगी। इससे करीब 75 लाख से ज्यादा कर्मचारियों और संस्थाओं को फायदा मिलेगा।

निर्मला सीतारमण ने बताया कि एम एस एम ई यानी सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग के निवेश की लिमिट में बदलाव किया गया है।एक करोड़ निवेश या 10 करोड़ टर्नओवर पर सूक्ष्म उद्योग का दर्जा दिया जाएगा।

इसी तरह 10 करोड़ निवेश या 50 करोड़ टर्नओवर पर लघु उद्योग का दर्जा दिया जाएगा।वही 20 करोड़ निवेश या 100 करोड़ टर्नओवर पर मध्यम उद्योग का दर्जा होगा।