इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू करने की तारीख अभी तय नहीं, नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा था- जून-जुलाई तक इन्हें शुरू कर सकते हैं

 इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू करने की तारीख अभी तय नहीं, नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा था- जून-जुलाई तक इन्हें शुरू कर सकते हैं

 

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को लेकर शनिवार को नई गाइडलाइन जारी की। कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक कोई छूट नहीं दी गई है। इस दौरान अंतरराष्ट्रीय उड़ानें और मेट्रो सेवा पर भी प्रतिबंध जारी रहेगा। सरकार ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने की तारीख कोरोना के हालात की समीक्षा के बाद अनलॉक-3 में तय होगी। हालांकि, बीते दिनों नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि इंटरनेशनल फ्लाइट जून-जुलाई तक शुरू कर सकते हैं। घरेलू उड़ाने पहले ही शुरू की जा चुकी हैं।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 23 मार्च से और घरेलू उड़ानें 25 मार्च से बंद कर दी गई थीं। हालांकि, 25 मई से प्रतिबंध हटा लिया गया था। अभी वंदे भारत मिशन के तहत विदेश में फंसे भारतीयों को इंटरनेशनल फ्लाइट के जरिए वापस लाया जा रहा है।

पुरी ने कहा था- एयरपोर्ट अथॉरिटी उड़ानों के लिए तैयार

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 23 मई को फेसबुक लाइव सेशन में सवालों के जवाब दिए थे। उन्होंने कहा था कि अगस्त-सितंबर से पहले हम इंटरनेशनल फ्लाइट्स सेवाएं शुरू कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले कोरोना के हालात का आकलन करना पड़ेगा। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस पूरी तरह से तैयार हैं। हम इन्हें जून-जुलाई में भी शुरू कर सकते हैं।

25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू की गईं

हरदीप सिंह पुरी ने 20 मई को ट्वीट करके बताया था कि 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू हो जाएंगी। 21 मई को इसके लिए डिटेल गाइडलाइंस भी जारी की गई थी। इसके लिए 8 एयरलाइंस कंपनियों को मंजूरी मिली है। एयरपोर्ट पर मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है।

करीब 20 एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें

देश के करीब 20 हवाईअड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। इन एयरपोर्ट्स से 55 देशों के 80 शहरों तक पहुंच सकते हैं। दुनिया के कई देश कोरोना की चपेट में हैं। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक जारी रखना जरूरी है। स्टेटिस्टा के मुताबिक, भारत में 2019 में करीब 7 करोड़ लोगों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में सफर किया।