दिल्ली: कोरोना आइसोलेशन सेंटर में तब्दील  होंगे  सरकारी स्कूल

दिल्ली: कोरोना आइसोलेशन सेंटर में तब्दील  होंगे  सरकारी स्कूल

 

दिल्ली सरकार ने कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है. इसके मद्देनजर केजरीवाल सरकार ने सरकारी स्कूलों को कोविड-19 आइसोलेशन सेंटर में तब्दील करने का आदेश दिया है. फिलहाल सर्वोदय विद्यालय, सेक्टर 7, आरके पुरम को आइसोलेशन सेंटर बनाने का फैसला  लिया गया है.

कोविड-19 आइसोलेशन सेंटर जिस स्कूल में बनाया जाना है, उस स्कूल के हेड ऑफ स्कूल या प्रिंसिपल को ही सारी व्यवस्था करने की जिम्मेदारी दी गई है. स्कूल प्रिंसिपल संबंधित एग्जिक्यूटिव मजिस्ट्रेट को आइसोलेशन सेंटर चलाने के लिए पूरी मैन पावर उपलब्ध कराएंगे.

कैसे होंगे आइसोलेशन सेंटर ?

सरकारी स्कूलों को आइसोलेशन सेंटर में जब बदला जाएगा तब वहां 24 घंटे चलने वाली आइसोलेशन फैसिलिटी के लिए पर्याप्त संख्या में मेडिकल टीम राउंड द क्लाक उपलब्ध रहेगी. साथ ही रेगुलर चेकअप और मेडिकल एग्जामिनेशन हेल्थ प्रोटोकॉल के तहत करेगी. साथ ही आइसोलेशन फैसिलिटी में रहने वाले लोगों का पूरा रिकॉर्ड भी मेंटेन रखने के आदेश भी दिए गए  हैं.

इसके अलावा पर्याप्त संख्या में पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट्स किट्स (PPE), सर्जिकल गाउन, मास्क, गलव्स, सैनिटाइजर हेल्थ प्रोटोकॉल के तहत उपलब्ध कराने के आदेश दिए गए हैं.

सैनिटेशन वर्कर्स 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे  देंगे अपनी तैनाती

दिल्ली सरकार ने एमसीडी (MCD) को भी आदेश दिए हैं कि पर्याप्त संख्या में सैनिटेशन वर्कर्स 24 घंटे परिसर की साफ-सफाई और सैनिटेशन/डिसइन्फेक्शन करने के लिए उपलब्ध रहेंगे. साथ ही साथ हेल्थ प्रोटोकॉल के मुताबिक कचरा निस्तारण का व्यवस्था की जाए. वहीं, बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण करने की भी व्यवस्था की जाए.