दिल्ली : गृह मंत्रालय का तब्लीगी जमातियों पर  बड़ा फैसला, 2550 विदेशी जमातियों की भारत यात्रा पर लगा 10 साल का प्रतिबन्ध  

  दिल्ली : गृह मंत्रालय का तब्लीगी जमातियों पर  बड़ा फैसला, 2550 विदेशी जमातियों की भारत यात्रा पर लगा 10 साल का प्रतिबन्ध  

 

तबलीगी जमात से जुड़े विदेशी नागरिक अब भारत नहीं आ पाएंगे। आज सरकार ने इसे लेकर एक बड़ा फैसला लिया है की तब्लीगी मरकज़ से जुड़े  विदेशी  इसके अनुसार 2550 विदेशी नागरिकों को भारत में होने वाली जमात की गतिविधियों में शामिल होने से प्रतिबंधित कर दिया गया है। यह प्रतिबंध 10 साल के लिए लगाया गया है इस प्रतिबंद के अनुसार ये विदेशी जमाती भारत देश नही आ सकते 10 साल ख़३ लिए इनकी  भारत यात्रा पर पाबंदी लगा दी गयी हैं | विगत  अप्रैल माह की शुरुआत में ही दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में देश एवं विदेश से आए हजारों  की संख्या में जमाती पाए गए थे। लॉकडाउन के बावजूद ये लोग वहां बड़ी संख्‍या में एकत्रित थे  । इसके बाद इन लोगों ने देश भर में जाकर अलग-अलग राज्‍यों में संक्रमण फैलाना शुरू कर दिया क्‍योंकि इनमें से आध से अधिक स्‍वयं कोरोना पॉजिटिव थे। इसके बाद से ही सरकार से किसी बड़े फैसले की अपेक्षा की जा रही थी गृह मंत्रालय द्वारा यह एक बड़ा फैसला लिया गया हैं .

तबलीगी जमात की गतिविधियों में शामिल होने के कारण 960 विदेशी नागरिकों की भारत यात्रा 10 साल के लिए प्रतिबंधित  कर दी गयी हैं । इन सभी पर आरोप है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के  शुरुआती दौर में इन्होंने गैरकानूनी तरीके से भीड़ इकट्ठा की, जिसके चलते यह  वायरस तेजी से फैला और फिर इसकी चपेट में देश के कई राज्यों के लोग आ  आए। शुरुआती दौर में इनके कारण करीब एक तिहाई लोगों और 17 राज्‍यों में संक्रमण फैला और काफी लोगों की मौत हुई।

2 नई चार्जशीट दाखिल की गयी

दिल्‍ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने पिछले गुरूवार  को दक्षिण दिल्ली में स्थित साकेत कोर्ट में 12 नई चार्जशीट दाखिल की, जिसमें 541 विदेशी नागरिकों को आरोपित बनाया गया। पुलिस अब तक कुल 47 चार्जशीट फाइल कर चुकी है, जिसमें 900 से अधिक जमातियों को आरोपित बनाया गया है। निजामुद्दीन मरकज में इकट्ठे हुए तब्‍लीगी जमात के लोगों की वजह से देश में कोरोना के कई मामले सामने आए थे। विभिन्न राज्यों में जाने से कोरोना का संक्रमण  तेजी से फैल गया था