रोजगारी के खिलाफ आन्दोलन कर रहे एन एस यू आई कार्यकर्ताओ पर वाटर कैनन की बौछार,नौकरी दो या डिग्री वापस लो' के लगे नारे

रोजगारी के खिलाफ आन्दोलन कर रहे एन एस यू आई कार्यकर्ताओ पर वाटर कैनन की बौछार,नौकरी दो या डिग्री वापस लो' के लगे नारे

कटनी रोजगारी के खिलाफ आन्दोलन कर रहे एन एस यू आई कार्यकर्ताओ पर वाटर कैनन की बौछार की गयी है आपको बता दें आंदोलनरत  कार्यकर्ता जुलूस निकाल कर एसडीएम कार्यालय की ओर बढ़ रहे थे, तभी भारी पुलिस बल ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस और एनएसयूआई कार्यकर्ताओं के बीच नोकझोंक भी हुई। इससे भी बात बनती न देख पुलिस ने उन पर वाटर कैनन की बौछार की। फिर सभी को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जाया गया। हालांकि बाद में निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया।

गिरफ्तारी से पूर्व सैकडों की संख्या में एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं और छात्रों ने 'नौकरी दो या डिग्री वापस लो' की मांग करते हुए एसडीएम कार्यालय का घेराव कर उग्र प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं और छात्रों ने गणेश चौक से रैली निकाली। वो हाथों में डिग्री व तख़्तियां लिए थे। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे। वो लगातार केंद्र सरकार की युवा विरोधी नीति को बढ़ती बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार ठहराते रहे।

इस मौके पर एनएसयूआइ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा की प्रधानमंत्री ने युवाओं को 2 करोड़ नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन 12 करोड़ युवाओं को नौकरी से निकाल दिया गया। केंद्र सरकार के बजट में शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण विषय पर अनदेखी की गई। इंजीनियरिंग कॉलेज और मेडिकल कॉलेज की फीस कई गुना बढ़ा दी गई, जिससे गरीब होनहार युवाओं को अच्छी शिक्षा से वंचित होना पड़ रहा है। लोन लेकर युवा डिग्री तो हासिल कर लेता है, लेकिन युवाओं को नौकरी का वादा देकर सरकार बनाने वाली मोदी सरकार रोजगार देने में पूरी तरह नाकाम रही है। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि सरकार के खिलाफ नौकरी के लिए युद्ध का शंखनाद एनएसयूआइ ने कटनी से कर दिया है और ये आंदोलन तक जारी रहेगा जब तक सरकार अपना वादा पूरा नही कर देती।