पीएम आवास योजना की लिस्ट से बाहर हुए कई नाम, ये है वजह |

पीएम आवास योजना की लिस्ट से बाहर हुए कई नाम, ये है वजह |

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (Pradhan Mantri Awas Yojana-G) के तहत अब तक 2.14 करोड़ लाभार्थी पात्र पाए गए हैं तथा आगे लेकिन आगे यह संख्या कम होने की संभावना हैं। हालांकि शुरूआत में इस लिस्ट में 2.95 करोड़ परिवार शामिल थे, लेकिन वेरिफिकेशन करने पर बहुत सारे घर पात्र नहीं पाए गए।

मंत्रालय ने कहा कि, प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण की इस लिस्ट को 2.14 करोड़ तक सीमित कर दिया गया है और आगे इसकी संख्या और भी कम होने की संभावना है।

अब तक पात्र लाभार्थियों की संख्या 2.95 करोड़ से घटकर 2.14 करोड़ होने के कारण, उन सभी परिवारों की पहचान के लिए फील्ड अधिकारियों की मदद से सभी राज्यों, केंद्रशासित क्षेत्रों द्वारा ‘आवास प्लस’ नाम का एक सर्वेक्षण किया गया था जिन्हें पात्र होने के बावजूद योजना की स्थायी प्रतीक्षा सूची में शामिल नहीं किया गया है।

योजना का फायदा लेने के लिए आवेदक की उम्र 21 से 55 साल होनी चाहिए, अगर परिवार के मुखिया या आवेदक की उम्र 50 साल से अधिक है, तो उसके प्रमुख कानूनी वारिस को होम लोन में शामिल किया जाएगा।

– ईडब्ल्यूएस (निम्न आर्थिक वर्ग) के लिए सालाना घरेलू आमदनी 3 लाख रुपए तय है।

– एलआईजी (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 लाख से 6 लाख के बीच होनी चाहिए।

– अब 12 और 18 लाख रुपए तक की सालाना आमदनी वाले लोग भी इसका लाभ उठा सकते हैं।