Jabalpur: राष्ट्रपति बोले कोर्ट में स्थानीय भाषा का प्रयोग हो |

Jabalpur: राष्ट्रपति बोले कोर्ट में स्थानीय भाषा का प्रयोग हो |

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उच्च न्यायालयों और जिला न्यायालयों को अपने फैसले को स्थानीय भाषा में उपलब्ध कराने की सलाह दी है। 

राज्य न्यायिक अकादमी के डायरेक्टर्स रिट्रीट के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम में राष्ट्रपति ने कहा कि भाषाई सीमाओं के चलते वादी-प्रतिवादियों को न्यायिक निर्णय समझने में कठिनाई होती है। 

राष्ट्रपति ने कहा कि देश कि आम लोगों का भरोसा न्यायपालिका में है। न्याय के आसन पर बैठने वाले व्यक्ति को समय के साथ परिवर्तन और समावेशी भावना होनी चाहिए। न्याय करने वाले व्यक्ति का निजी आचरण भी उच्च होना चाहिए। न्याय व्यवस्था का उद्देश्य न्याय की रक्षा का होता है। न्याय में विलंब नहीं होना चाहिए।

कार्यक्रम में प्रधान न्यायाधीश शरद अरविंद बोबड़े, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कर्नाटक, मेघायल, जम्मू कश्मीर, पंजाब आदि हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस शामिल हुए।