राजगढ़ हाईवे पर गांववाले किराने की तरह बेचते हैं शराब, रेट भी आधा; बच्चे-महिलाएं भी इसी धंधे में

राजगढ़ हाईवे पर गांववाले किराने की तरह बेचते हैं शराब, रेट भी आधा; बच्चे-महिलाएं भी इसी धंधे में

देश में शराबबंदी की बातें उठती हैं, लेकिन हम आपको ऐसे गांव की हकीकत दिखा रहे हैं, जहां करीब हर घर में शराब दुकान है। ये गांव है मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले का कटारिया खेड़ी। राजगढ़-ब्यावरा हाईवे पर बसे गांव में अवैध रूप से शराब को गुमटियों के जरिए बेचा जाता है। खुलेआम किराना की दुकान में शराब बोतलें सजाकर रखी जाती हैं। शराब के इस अवैध कारोबार को कैद करने जब  खरीदारों ने खुलकर स्वीकारा कि यहां काफी सस्ती शराब उन्हें मिल जाती है। बड़ी बात यह है कि यहां पर बच्चों से लेकर बड़े तक इस कारोबार में लगे हुए हैं। खरीदार से पूछा- जेब में क्या है? तो ये जवाब मिला- संतरा फ्लेवर क्वार्टर है। जब भी हम कटारियाखेड़ी से होकर गुजरते हैं तो यहीं से शराब खरीदकर ले जाते हैं। यहां सभी ब्रांड काफी सस्ते में मिल जाते हैं। बहुत सी दुकानें हैं, लाल चाहिए तो लाल लीजिए, सफेद चाहिए तो सफेद। कई बार तो सिर्फ शराब लेने ही आते हैं। पूरा गांव तो यहां शराब बेचता है। गुमटी हो या पक्के मकान... हर जगह शराब मिल जाएगी। पुलिस आती है तो भी हमें शराब लेने में कोई दिक्कत नहीं होती। खरीदार से पूछा- जेब में क्या है? तो ये जवाब मिला- संतरा फ्लेवर क्वार्टर है। जब भी हम कटारियाखेड़ी से होकर गुजरते हैं तो यहीं से शराब खरीदकर ले जाते हैं। यहां सभी ब्रांड काफी सस्ते में मिल जाते हैं। बहुत सी दुकानें हैं, लाल चाहिए तो लाल लीजिए, सफेद चाहिए तो सफेद। कई बार तो सिर्फ शराब लेने ही आते हैं। पूरा गांव तो यहां शराब बेचता है। गुमटी हो या पक्के मकान... हर जगह शराब मिल जाएगी। पुलिस आती है तो भी हमें शराब लेने में कोई दिक्कत नहीं होती।