1500 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान था, 44 दिन में 2100 करोड़ रुपए जुटाए गए

1500 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान था, 44 दिन में 2100 करोड़ रुपए जुटाए गए

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के लिए शनिवार शाम तक 2,100 करोड़ रुपए चंदा जुटाया जा चुका है। फिलहाल 1,500 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है, यानी यह अनुमान से लगभग डेढ़ गुना है। पहले 1,100 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान था, लेकिन नींव का प्लान बदलने की वजह से लागत बढ़ गई।

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने 15 जनवरी से निधि समर्पण अभियान शुरू किया था। 44 दिन में टारगेट पूरा होना था। जिन राज्यों में अभियान देर से शुरू हुआ था वहां चंदा जुटाया जा रहा है। ऐसे में धनराशि और बढ़ना तय है।

स्वामी गोविंद देव गिरि ने बताया कि कई डिपॉजिटर की धनराशि बैंकों में जमा होने की प्रक्रिया चल रही है। सही लेखा-जोखा मार्च के आखिरी तक पूरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि विदेशों में रहने वाले भी वहां यह अभियान चलाने की मांग कर रहे हैं

ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र ने बताया कि डेढ़ लाख टोलियां इस अभियान में लगी थीं। चंदा देने में धर्म, जाति और संप्रदाय की बेड़ियां टूटी हैं। सभी ने राम मंदिर के लिए दान दिया है। इनमें बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग भी शामिल हैं।