नैतिकता और मर्यादाओं को संकल्प के साथ स्थापित करना सही मायने में राम राज्य होगा:इंजी.राजेंद्र शर्मा

नैतिकता और मर्यादाओं को संकल्प के साथ स्थापित करना सही मायने में राम राज्य होगा:इंजी.राजेंद्र शर्मा

आज आयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम  जी के मंदिर के शिलान्यास के साथ वर्षों पहले देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी का सपना पूरा हुआ।जिस तरीके से सर्वोच्चतम न्यायालय ने यह निर्णय किया था उससे एक बहुत बड़े विवाद का पटाक्षेप हुआ था और जिस उत्साह के साथ देश ने इस निर्णय को स्वीकर किया उसके लिए समूचे राष्ट्र को हार्दिक शुभकामनयें. आज देश के लिए गौरव का क्षण था, राम मंदिर की आधारशिला रखी गयी।देश में राम मंदिर के शिलान्यास के साथ ही यह संकल्प लेने की आवश्यकता है कि अब राजनैतिक,प्रशासनिक और सामाजिक रामराज्य स्थापित हो क्योंकि मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का सिर्फ मंदिर बनाने से नहीं बल्कि सामाजिक,संस्कृति और राजनैतिक परिस्थितियों में राम राज्य की स्थापना करना होगा।महात्मा गांधी ने भी आजादी के पहले सन 1930 में कहा था कि देश की आजादी के साथ राम राज्य की स्थापना लक्ष्य होना चाहिए.आज मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के मंदिर निर्माण के शिलान्यास के साथ हमारी ख़ुशी सिर्फ प्रतीक बनकर न रह जाये इसलिए राजनीति करने वालों को नैतिकता और मर्यादा के साथ नयी शुरुआत करनी होगी.सामाजिक,धार्मिक,व्यावसायिक,प्रशासनिक हर क्षेत्र के लोगों को अपनी मर्यादाओं नैतिक मूल्यों के साथ प्रभु श्री राम के विचारों के साथ अपने कर्म क्षेत्र में राम राज्य के लिए काम करना होगा. हमारा देश  मर्यादाओं का देश रहा है और हम सबको मिलकर मर्यादाओं वाले राम राज्य की स्थापना कर्ण होगी. देश की वर्तमान स्थिति और हालात को देखते हुए अब मर्यादाओं की जरूरत है और वह मर्यादाएं राजनैतिक, प्रशासनिक हर क्षेत्र में जरूरी है तभी सही मायने में मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की स्थापना की जा सकेगी।

इंजी.राजेंद्र शर्मा 

अध्यक्ष रेवांचल चेंबर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज