रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए जारी हुई गाइडलाइन, इन मरीजों को ही दिया जाएगा डोज |

रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए जारी हुई  गाइडलाइन,  इन मरीजों को ही दिया जाएगा डोज |

मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण ने लोगों की तकलीफों को और भी ज्यादा बढ़ा दिया है। अस्पतालों और दवा बाजार के चक्कर लगाकर संक्रमितों के परिजन और भी ज्यादा परेशानी में नजर आ रहे हैं। क्योंकि कोरोना मरीजों को दिया जाने वाला रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक मार्केट में खत्म हो चुका है।

प्रदेशभर में कोरोना मरीजों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है तो रेमडेसिविर इंजेकेश्न की डिमांड भी बढ़ रही है। लेकिन भोपाल, इंदौर समेत बड़े शहरों में इंजेक्शन का स्टॉक खत्म हो चुका है। रेमडेसिविर इंजेक्शन के इस्तेमाल को लेकर सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दी है। यह इंजेक्शन अब हर कोरोना मरीज को नहीं दिया जाएगा, बल्कि सिर्फ उन मरीजों को दिया जाएगा जिन्हें इलाज के दौरान हर दिन 5 लीटर से ज्यादा ऑक्सीजन दी जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बताया कि रेमडेसिविर इंजेक्शन का उपयोग सरकारी स्तर पर कभी नहीं किया गया, लेकिन ऑल इंडिया इंस्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) दिल्ली ने कोरोना के लिए रिवाइज ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल जारी किया है। इस प्रोटोकॉल के मुताबिक, अब रेमजेसिविर इंजेक्शन का डोज उन मरीजों को दिया जा सकता है जिन्हें 5 लीटर से ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। अब इसी के आदार पर स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के इलाज में इस प्रोटोकॉल के तहत इंजेक्शन देने के आदेश जारी किए हैं।