रेमडेसिविर की 9,600 शीशियां मप्र पहुंचीं, हवाई मार्ग से अलग-अलग हिस्सों में भेजी गईं

रेमडेसिविर की 9,600 शीशियां मप्र पहुंचीं, हवाई मार्ग से अलग-अलग हिस्सों में भेजी गईं

कोविड-19 की दूसरी लहर के घातक प्रकोप के बीच रेमडेसिविर दवा की कुल 9,600 शीशियां बृहस्पतिवार को इंदौर पहुंचीं। यहां से इन्हें सरकारी विमान और हेलिकॉप्टर के जरिये राज्य के अलग-अलग हिस्सों में भेजा गया। अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 की जरूरी दवा की यह खेप महाराष्ट्र के नागपुर से ट्रक के माध्यम से इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंची। उन्होंने बताया कि हवाई अड्डे से इसे सरकारी विमान और हेलीकॉप्टर के जरिये प्रदेश के विभिन्न जिलों में भेजा गया। उन्होंने बताया कि रेमडेसिविर के 200 बक्से इंदौर हवाई अड्डे पहुंचे जिनमें कुल 9,600 शीशियां हैं।

हेलिकॉप्टर के माध्यम से इनमें से 42 बक्से भोपाल, सात बक्से रतलाम और चार बक्से खंडवा पहुंचाए गए। इसी तरह, सरकारी विमान से 19 बक्से ग्वालियर, 18 बक्से रीवा, 39 बक्से जबलपुर और 14 बक्से सागर पहुंचाए गए। रेमडेसिविर के 57 बक्से इंदौर के मरीजों के लिए रखे गए हैं जो राज्य में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला है। गौरतलब है कि कोविड-19 के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली रेमडेसिविर की 9,600 शीशियां ऐसे वक्त मध्यप्रदेश पहुंचीं, जब राज्य में इस दवा की भारी किल्लत है और मरीजों के परिजन इसकी कालाबाजारी की शिकायतें भी कर रहे हैं।