अस्पतालों में बढ़ने लगी मरीजों की संख्या

चिकित्सकों ने एहतियात बरतने की दी सलाह

अस्पतालों में बढ़ने लगी मरीजों की संख्या

मौसम में हो रहे बदलाव के कारण मौसमी बीमारी का प्रकोप बढ़ गया है। लगभग हर घर में एक सदस्य बीमार है। अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की संख्या अन्य महीनो की तुलना में करीब दो गुना तक बढ़ गई है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नईगढ़ी में औसतन हर रोज करीब 150 से लेकर 175 मरीज अपना इलाज करवाने आ रहे हैं, वहीं झोलाछाप डॉक्टरों के यहां भी मरीजों की लंबी लाइन देखी जा रही है । यही कारण है कि रोजाना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नईगढ़ी में मरीजों की लंबी-लंबी लाइनें लगी देखने को मिल रही है। । मौसम परिवर्तन के कारण बच्चों से लेकर नौजवान तक इस समय मौसमी बीमारी का शिकार हो रहे हैं। बीएमओ डॉ. आर के पाठक ने बताया कि मौजूदा समय में मौसमी बीमारियों के कारण जुखाम बुखार का प्रकोप बढ़ा हुआ है। जिससे स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों की संख्या में रोजाना बढ़ोत्तरी हो रही है। स्वास्थ्य दलों द्वारा लोगों को मौसमी बीमारियों से बचने के लिए विशेष एहतियात बरतने की सलाह समय समय पर दी जा रही है। घरों में काम आने वाले मटकों के नीचे वाले बर्तन, गमले, फूलदान आदि के पानी को समय-समय पर खाली करते रहें। कूलर, फ्रीज के पीछे की ट्रे, घर के बाहर रखी पानी की टंकी व परिंडों को भी नियमित अंतराल में साफ करते रहे |