रीवा के निजी बस संचालकों ने आज कलेक्ट्रेट पहुंचकर सौपा ज्ञापन

रीवा के निजी बस संचालकों ने आज कलेक्ट्रेट पहुंचकर सौपा ज्ञापन

 रीवा के निजी बस संचालकों ने आज रीवा कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर को निराकरण करने हेतु प्रादेशिक स्तर पर बस ओनर्स एसोसिएशन के आव्हान पर प्रदेश में बस संचालक संबंधित मांग पत्र सौंपा गया| जिसमे उनकी मांग है  है कि कोरोनावायरस के चलते लॉक डाउन के तहत मध्यप्रदेश में बस संचालन विगत 22 मार्च 2020 से पूर्ण रूप से बंद पड़ा है| संपूर्ण मध्य प्रदेश की लगभग 35000 से अधिक निजी यात्री बसों का लॉक डाउन के दौरान संचालन बंद है| प्रदेश सरकार के निर्णय के अनुसार संपूर्ण प्रदेश की बसों का संचालन आगामी आदेश तक बंद रहेगा| वही ज्ञापन के माध्यम से अनुरोध किया गया है की जो बसे 22 मार्च से बैंड रही है उनका टैक्स न लिया जाये क्युकी पिछले 2 महीने से बसों का संचालन नहीं हुआ है इसके अलावा  जब तक गाड़ियाँ नहीं चलती है तब तक टैक्स न लिया जाये| इसके अलावा ज्ञापन में यह भी कहा गया है की सरकार के निर्देश के अनुसार अब बस में सोशल डिस्टेंसिंग  अपनाते हुए और एहतियात बरतते हुए बस में 50 प्रतिशत यानी 25 सवारी बैठाई जा सकती है जिससे बस संचालकों को नुकसान होगा जिसकी छति पूर्ति शासन द्वारा की जाना चाहिए|